На главную
Видео добавленное пользователем “Doctor Sahab ke Gharelu Upay”
साइनस का इलाज,कारण व लक्षण ||घरेलु नुस्खे और योग -Home Remedy for Sinus [Hindi]
 
06:08
What is sinus and how to get rid of it , some home remedies and the causes of spreading sinus. साइनस का इलाज़ कारण और लक्षण जाने क लिए इस विडियो को अंत तक देखें. साइनस नाक का एक रोग है, आयुर्वेद में इसे प्रतिश्याय नाम से जाना जाता है सर्दी के मौसम में नाक बंद होना,सिर में दर्द होना, आधे सिर में बहुत तेज दर्द होना, नाक से पानी गिरना इस रोग के लक्षण हैं इसमें रोगी को हल्का बुखार, आंखों में पलकों के ऊपर या दोनों किनारों पर दर्द रहता है तनाव, निराशा के साथ ही चेहरे पर सूजन आ जाती है इसके मरीज की नाक और गले में कफ जमता रहता है इस रोग से ग्रसित व्यक्ति धूल और धुवां बर्दाश्त नहीं कर सकता साइनस ही आगे चलकर अस्थमा, दमा जैसी गंभीर बीमारियों में भी बदल सकता है, इससे गंभीर संक्रमण हो सकता है क्या होता है साइनस रोग साइनस का उपाय इस इंफेक्शन के फैलने से उक्त सभी अंग कमजोर होते जाते हैं। योग पैकेज अत: शुद्ध वायु के लिए सभी तरह के उपाय जरूर करें और फिर क्रियाओं में सूत्रनेती और जल नेती, प्राणायाम में अनुलोम-विलोम और भ्रामरी, आसनों में सिंहासन और ब्रह्ममुद्रा करें असके अलावा मुंह और नाक के लिए बनाए गए अंगसंचालन जरूर करें कुछ योग हस्त मुद्राएं भी इस रोग में लाभदायक सिद्ध हो सकती है मूलत: क्रिया, प्राणायाम और ब्रह्ममुद्रा नियमित करें। मित्रों ,अगर ये विडियो आप को पसंद आई और, आप हमारे ऐसे ही जानकारी वाले videos देखना चाहते हैं तो कृपया, subscribe करें . साइनस का घरेलु उपचार नमक और बेकिंग सोडा आधे लीटर पानी में, एक चम्मच नमक और बेकिंग सोडा मिला लीजिए ,अब इस पानी के मिश्रण से , हालांकि, साइनस ख़त्म नहीं होता , परन्तु , हाँ कुछ हद तक आराम मिल जाती है गाजर का रस गाजर में अनेक पौष्टिक तत्व होते हैं , जिससे साइनस की समस्या को आसानी से दूर किया जा सकता है कुछ समय तक गाजर के रस का सेवन कर के , साइनस की समस्या को दूर किया जा सकता है लहसून का प्रयोग लहसून जैसे तीखे खाद्य पदार्थ , साइनस को कम करने में काफी मददगार सिद्ध होती है अपने नियमित भोजन में , लहसून को शामिल करें , यह साइनस का रामवाण इलाज़ है मेथीदाना (Fenugreek Seed) एक चम्मच मेथीदाना को एक कप पानी में मिला कर ,उबाल लें , अब इस पानी को ठंडा करके ,छान कर पी लें ऐसा एक महीने तक करें , आप को फर्क महसूस होगा . डॉक्टर साहब
Просмотров: 310592 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
साइनस का कारण ,लक्षण व इलाज ||घरेलु नुस्खे योग और परहेज ||Symptoms and Home Remedy for Sinus||Hindi
 
04:07
साइनस नाक में होने वाला एक रोग है। इस रोग में नाक की हड्डी भी बढ़ जाती है या तिरछी हो जाती है, जिसकी वजह से सांस लेने में परेशानी होती है। जो व्यक्ति इस रोग से ग्रसित होता है उसे ठंडी हवा, धूल, धुआं आदि में परेशानी महसूस होती है। साइनस दरअसल मानव शरीर की खोपड़ी में हवा भरी हुई कैविटी होती है, जो हमारे सिर को हल्कापन व श्वास वाली हवा लाने में मद्द करती है। श्वास लेने में अंदर आने वाली हवा इस थैली से होकर फेफड़ों तक जाती है। यह थैली, हवा के साथ आई गंदगी यानि धूल और दूसरी तरह की गंदगियों को रोकती है। जब व्यक्ति के साइनस का मार्ग रूक जाता है, तो बलगम निकलने का मार्ग भी रूक जाता है, जिससे साइनोसाइटिस नामक बीमारी होती है। साइनस का संक्रमण होने पर इसकी झिल्ली में सूजन आ जाती है, जिसके कारण झिल्ली में जो हवा भरी होती है उसमें मवाद या बलगम आदि भर जाता है और साइनस बंद हो जाते हैं। ऐसा होने पर मरीज को परेशानी होनी लगती है। इस बीमारी का मुख्य कारण झिल्ली में सूजन का आना है। यह सूजन निम्न कारणों से आ सकती है - 1 बैक्टीरिया 2 फंगल संक्रमण 3 या फिर नाक की हड्डी का ढ़ेडा होना। बीमारी के खास लक्षण भी बताए जिनके आधार पर आप इस बीमारी को आसानी से पहचान सकते हैं। जानिए साइनस के यह 9 प्रमूख लक्षण - 1 सिर का दर्द होना 2 बुखार रहना 3 नाक से कफ निकलना और बहना 4 खांसी या कफ जमना 5 दांत में दर्द रहना 6 नाक से सफेद हरा या फिर पीला कफ निकलना 7 चेहरे पर सूजन का आ जाना 8 कोई गंध न आना 9 साइनस की जगह दबाने पर दर्द का होना आदि इसके लक्षण हैं। जांच - वैसे तो साइनस की समस्या कोई गंभीर बीमारी नहीं है, लेकिन समय रहते इसका इलाज नही कराया गया तो मरीज को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। डॉ. विवेक वर्मा के अनुसार मरीज को यह बीमारी है या नहीं, यह जानने के लिए सि‍टी स्कैन या एमआरआई के अलावा साइनस के अन्य कारणों को पता चल सके। इलाज - अगर सिटी स्कैन व एलर्जी टेस्ट आदि करवाकर यदि नाक की हड्डी एवं साइनस की बीमारी सामने आती है, तो उस मरीज को घबराने की जरूरत नहीं है। आज कल इसका ऑपरेशन दूरबीन विधि से या फिर नाक की इंडोस्कोपिक साइनस सर्जरी करा सकते हैं। साइनस से ग्रसित व्यक्तियों को धुंए और धूल से बचना चाहिए। ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm
Просмотров: 1109 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
गर्भपात ||गर्भ गिराने के घरेलु उपाय home remedy for ||abortion hindi
 
03:46
Garbhpat ke gharelu upay in hindi : Ichcha na hote hue bhi agar garbhvati hone par striya chintatur ho jaati hai. Kuvari ladki ho ya phir shaadi suda, agar bachcha nahin chahiye to phir garbhpat se samasya ka nivaran hota hai. Medical tarike hai jis se fetus ko bahar nikal dete hai. Doosra tarika yeh hai ki aap dadi ma ke purane garbhpat ke gharelu nuskhe aajmaaye. Magar yeh dhyan rahe ki yeh nuskhe har ek case mein safalta nahin denge. Yeh bhi dhyan rakhe ki pehle 2 mahine ke andar hi garbhpat ho jaana chahiye kyonki baad mein gharbhpat mein aap ko khatra badh sakta hai. Gharelu nuskhe abortion karne ke liye aap pehle mahine se hi prayog kare varna deri ho jaayegi. Garbhpat ke gharelu nuskhe in hindi yahan par upasthit hai jis mein se koi bhi aap try kar sakte hai. Garbhpat ke gharelu upay in hindi Tulsi ke patte ka kaadha 2-4 din piye. Vit C jinme paya jata hai wo cheeze adhik khaye. Lehsun ki 2 kali khaye, yeh garbhpat mai madad karega. Roz garm pani se nahana garbhpat mai madadgaar hota hai. Garbh nirodhak goli bhi ek acha tarika hai anchaha garbh ke liye. Bajre ko adhik khane se garbh girne ki sambhawna badh jati hai. Garbhpat agar karna ho to shuruwati mahino mai hi kar lena chaiye. Regular kache papite aur kathal khana garbh girane mai helpful hota hai. Garbhpat ke karan Garbhpat ke kai karan ho sakte hai. Ek to yeh hai ki kuvari ladki ne sex kiya hai aur voh nahin chahti hai ki bachcha ho. To garbhpat hi ek aisa raasta hai jo us ke bhavishya ko surakshit rakhega. Aisi ladkiya garbhpat ke gharelu upay aajmaa sakti hai jis se us ki badnaami na ho. Garbhpat ke tarike kai hai aur yeh garbhpat ke gharelu nuskhe pregnancy ke pehle 2 mahine mein hi prayog karna chahiye. Agar 3 mahine ho jaaye ya us se bhi adhik to phir medical termination of pregnancy ka he ek safe raasta hai. Yahan gharelu nukshe abortion ke liye khatra paida kar sakti hai. Garbh ke lakshan Garbh theher gaya hai voh bhi janna jaroori ha. Garbh theher gaya hai is ke kai lakshan hai. Hormonal changes sharir mein hote hai jis ka ek nishan hai ki stan soojh jaate hai. Doosra yeh hai ki aap ko baar baar ulti hota hai. Teesra yeh hai ki aap ko baar baar peshab aata hai. Garbh theher ne se thakan mehsoos hota hai. Kai mahilao ko ya to khaane mein aruchi paida ho jaati hai ya to phir kai khaas prakar ke vyanjan ke liye man tarasta hai. Ghar par hi aap pratham test kar sakti hai. Is ke liye pregnancy strips dawai ki dukan mein milte hai. Is ko aap ghar par laake urine se test kare to positive hai ya negative hai yeh aap jaan sakti hai. Is ke baad aap doctor ke paas test kara sakti hai aur baad mein, agar bachch nahin chahe to yaha bataye gharelu nuskhe for abortion ka prayog kare turant hi. Pehla lakshan garbh theherne ke 6 din ke andar hi pragat hota hai. Pet mein thodasa dard rehta hai. Thodasa white discharge bhi nikal sakta hai. Bleeding bhi hoga. Lakshan ko pehchane aur fauran action le to is samasya ka jald hi nivaran hoga. _ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 122460 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Cancer | Secret of cancer cure, Cancer is business,कैंसर का  रोकथाम,कैंसर कोई रोग नहीं,
 
06:46
आप को ये जान कर आश्चर्य होगा की, पुरे विश्व में महामारी की तरह पैर पसार रहा रोग, कैंसर , कोई रोग नहीं , महज एक organized और colonized बिज़नस है , जिसके बारे में अंदाज़ा लगाना न केवल असंभव है बल्कि आश्र्यजनक भी है . कैंसर और कुछ नहीं बस एक झूठ है जिसे ये मॉडर्न दुनिया बिज़नस बनाये बैठी है क्या आप को पता है, की G Edward Griffin के द्वारा रचित पुस्तक ; world without cancer को बहुत से देशों में ban कर दिया गया है., जिसमे कैंसर के इलाज़ और रोकथाम के बारे में विस्तृति जानकारी दी गई है ._ क्या आप को पता है, की G Edward Griffin के द्वारा रचित पुस्तक ; world without cancer को बहुत से देशों में ban कर दिया गया है., जिसमे कैंसर के इलाज़ और रोकथाम के बारे में विस्तृति जानकारी दी गई है . आपको ये जानकर आचार्य होगा की , कैंसर नामक बीमारी कोई बीमारी है ही नहीं बल्कि ये एक विटामीन की कमी है , मुझे पता है आप मेरा यकीन नहीं करेंगे ,लेकिन यकीन मानिये , cancer रोग नहीं बस विटामीन B seventeen की कमी की वजह से होने वाली एक ऐसी समस्या है , जिसमे आपके शरीर में मौजूद सेल्स की बढ़ोतरी में असामान्य वृद्धि होने लगती है जो आगे जा कर रोग का रूप ले लेता है. chemotherapy, surgery, इत्यादि से बचे , और वो भी ऐसी बीमारी के लिए ,जो बीमारी तो है ही नहीं पुराने समय में इस स्कर्वी नामक बीमारी की वजह से हजारों नाविकों और नागरिकों ने अपनी जान गवाएँ. और वहीँ कुछ लोगों ने इलाज़ के नाम पर जम के पैसे कमायें , बाद में जा कर ये पता चला की , स्कर्वी नामक बीमारी दरअसल विटामीन C की कमी से होती है . Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 10293 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
योनी के सफाई के घरेलु तरीके -Wash Natural ||Vaginal wash-Intimate wash[Hindi]
 
04:33
इस विडियो में हम, आपको ऐसी कई घरेलू सामग्रियों के बारे में बताएंगे, जो आपकी योनि को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाएगी और आपको योनि सम्‍बंधित किसी प्रकार की कोई समस्‍या नहीं होगी। परन्तु कभी कभी किसी संक्रमण की वजह से ,योनी में बदबू और खुजली की समस्या आम होती है, हर महिला को चाहिए कि वह अपने शरीर के सबसे सेंसटिव हिस्‍से को साफ रखें, ताकि, उसमें किसी प्रकार का कोई संक्रमण न होने पाएं। हर स्‍त्री को इसका विशेष ध्‍यान रखना चाहिए। आजकल बाजार में कई प्रकार के योनि साफ करने वाले लिक्विड आदि आते हैं जो योनि को साफ कर देते हैं ,लेकिन ,ये काफी मंहगे होते है ,और इनका अधिक मात्रा में इस्‍तेमाल भी हानिकारक हो सकता है। आप योनि को साफ करने के लिए कई घरेलू सामग्रियों का इस्‍तेमाल कर सकती है, इन्‍हे आप खुद से तैयार कर सकती हैं। घरेलू तरीके से तैयार ये सामग्रियां आपकी योनि को साफ और स्‍वच्‍छ रखती हैं। मासिक धर्म के दौरान योनि की सफाई पर विशेष ध्‍यान देना चाहिए। आप की योनि में एसिड होता है, जो योनी में होने वाले संक्रमण, का प्राकृतिक तरीके से खात्मा करता है.वैसे तो योनी की सफाई के लिए , सादा और साफ़ पानी ही काफी होता है, केमिकल युक्त साबुन या जेल से, उसकी सफाई, योनी के प्राकृतिक PH balance को, प्रभावित करता है, और लगातार उपयोग से, योनी में सूखापन और संक्रमण बढ़ने की संभावना बढ़ जाती है. और PH balance के बारे में आप ने एक प्रसिद्ध साबुन के बिज्ञापन में देखा ही होगा . तो आये हम आज बात करते हैं आप की योनी की सफाई के बारे में . इस विडियो में हम, आपको ऐसी कई घरेलू सामग्रियों के बारे में बताएंगे, जो आपकी योनि को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाएगी और आपको योनि सम्‍बंधित किसी प्रकार की कोई समस्‍या नहीं होगी। योनि को स्वस्थ रखने के आसान तरीके . सेब का सिरका: प्राकृति योनि क्‍लींजर के रूप में, आप सेब के सिरके का भी इस्‍तेमाल कर सकती है। इसकी चार बूंद अपने नहाने के पानी में मिला लें और उसी पानी से योनि को धो लें। 15 मिनट तक इससे धोने पर बहुत आराम मिलती है। एलोवेरा जैल: एलोवेरा जैल से योनि को साफ करना अच्‍छा रहता है। इससे योनि गंदी नहीं रहती है और किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्‍ट नहीं होता है। कैमोमाइल का तेल: योनि को साफ करने के लिए और बदबू को दूर भगाने के लिए कैमोमाइल का तेल लगाएं। इससे शरीर के इस नाज़ुक हिस्‍से को काफी आराम मिलता है। बेकिंग सोडा: बेकिंग सोडा से योनि को साफ करने में बेहद आराम मिलता है। लेकिन इसके अत्‍यधिक इस्‍तेमाल से बचें। दही: दही को खाने के अलावा, ब्‍यूटी टिप्‍स में भी इस्‍तेमाल किया जाता है। अगर आपकी योनि से बदबू आ रही है तो दही को अपनी योनि पर लगा लें और उसके बाद धो लें। बदबू दूर भाग जाएगी। सफेद सिरका: अगर आप अपनी योनि को अच्‍छी तरह साफ करना चाहती हैं तो सफेद सिरका का इस्‍तेमाल करें। इसे नहाने वाले पानी में चार बूंद मिला लें और योनि को धुल लें। टी ट्री ऑयल: चाय की पत्तियों के रस से योनि को धुलने पर काफी आराम मिलता है। इससे कोई नुकसान नहीं होता है। आंवला आंवले के रस को निकाल लें और इसे पानी में मिलाकर, उस पानी से योनि को साफ करें तो आपको राहत महसूस होगी। पीरियड्स के दिनों में ऐसा हमेशा करना चाहिए। मेंथी: मेंथी, महिलाओं के लिए बहुत लाभकारी होती है। इसे पानी में डालकर उबाल लें और उस पानी से योनि को धुलने पर बहुत आराम मिलेगा। दोस्तों अगर आपको ये विडियो पसंद आइ ,और आप हमारे आने वाले वीडियो को मिस नहीं करना चाहते हैं तो सब्सक्राइब जरूर करें . धन्यवाद
Просмотров: 9019 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
योनी  चाटने के फायदे और नुकसान -Health benefits and guide ||Eating pussy[Hindi]
 
03:17
कहा जाता है – अगर आपको पिज़्ज़ा अच्छा लगता है तो लड़की की योनी को चाटना और चुसना भी अच्छा लगता होगा. ज्यादातर मर्द मुख मैथुन (oral sex) करने के लिए बेताब होते है या ऐसा भी कह सकते है कि मुख मैथुन से ही सेक्स की, शुरुआत करते है और लगभग सभी औरतों को योनी चटवाने और चुसवाने, में बड़ा ही मज़ा आता है. कुछ मामलों में देखा गया है की महिलाएं योनी मैथुन से ज्यादा मुख मैथुन में जल्दी ओर्गास्म तक पहुँचती हैं How To Eat Pussy Like A King योनी के चाटने से पहले बरतें सावधानियाँ . योनी को गरम पानी और/या विनेगर से नियमित रूप से, जैसे कि सुबह शाम, साफ़ करना बहुत जरूरी है. ये गुप्तांग साफ़ करने की एक आदत बना लेनी चाहिए. ये निश्चिंत हो लें की आप के मुह में ,या स्त्री के योनी में ,किसी प्रकार का घाव न हो, ऐसा होने से संक्रमण का खतरा, बढ़ जाता है . अगर योनी से किसी किस्म की अप्रिय बदबू अति हो तो मुख मैथुन न करें . सुबह उठ कर मुख मैथुन न करें, कोशिश करें की योनी की सफाई अच्छे से की गई हो . योनी के चाटने का तरीका ये कन्फर्म हो लें की, लड़की को यौन संबधित कोई बिमारी, तो नही है। अब लड़की को नंगा कर के अपने सामने लिटा दें। उसके दोनों पैरों को मोड़ कर आजू बाजू फैलादें। इस से लड़की की योनी, साफ़ साफ़ दिखने लगेगी। अब उसके योनी ,को अपने हाथों से धीरे धीरे सहलाएं। थोडी देर में ही, लड़की की योनी चिपचिपी हो जायेगी। धीरे धीरे उसके योनी की तरफ़ अपना मुह ले जाएँ। अब उसके योनी को अपने होठो से चूमें। धीरे धीरे उसके चिपचिपे योनी का रस को ऊपर ऊपर स्वाद लें। अब अपने हाथ से योनी को पकड़ कर फैलाईये।
Просмотров: 126222 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
जल्दी माँ बनना || गर्भ ठहरने के उपाय || बच्चा नहीं हो रहा हो तो क्या करें  |Doctor Sahab
 
05:41
गर्भधारण हर शादी-शुदा महिला के लिये एक बड़ी बात होती है। प्रेगनेंट होना जितना सुनने में आसान लगता है उतना असलियत में नहीं होता है। जहां ऐसी महिलाएं हैं जो एक के बाद एक बच्‍चा पैदा करती हैं, लेकिन वहीं कुछ महिलाएं ऐसी भी हैं जिन्‍हें conceive करने में दिक्‍कत आती है। लाख प्रयास करने के बावजूद वो गर्भ धारण नहीं कर पते हैं | ऐसे में कपल कुंठा का शिकार हो कर एक दुसरे को दोष ठहराने लग जाते हैं | वही कुछ कपल नीम हकीम के हाथों पड़ कर अपना नुकसान कर बैठते हैं |को यदि आप भी ऐसे समस्या में हैं, तो इसका एक मतलब ये भी हो सकता है के आप ठीक प्रकार से और ठीक समय में सेक्‍स नहीं का पा रही हैं। कंसीव ना कर पाने के कई सारे कारण होते हैं। हो सकता है के शायद ये समस्या आपके स्‍वास्‍थ्‍य या फिर ठीक से यौन संबन्‍ध ना बना पाने की वजह से हो रही हो। आज हम इसी बात पर चर्चा करेंगे कि क्यूँ बार बार सेक्‍स करने के बावजूद भी आप मां क्‍यों नहीं बन पा रही हैं। How to conceive -even after having intercourse in fertile periods. less use of lubricants may increase the possibility of getting pregnant.positions ,forplay etc are the main factor. Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 4218 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
High Cholesterol and Congestive Heart Failure -कोलेस्ट्रोल कम करने का  घरेलु तरीका[Hindi]
 
05:38
भारत में सबसे ज्यादा मौते कोलस्ट्रोल बढ़ने के कारण हार्ट अटैक से होती हैं। आप खुद अपने ही घर मैं ऐसे बहुत से लोगो को जानते होंगे जिनका वजन व कोलस्ट्रोल बढ़ा हुआ हे। अमेरिका की कईं बड़ी बड़ी कंपनिया भारत में, दिल के रोगियों को ,अरबों की दवाई बेच रही हैं ! लेकिन अगर आपको कोई तकलीफ हुई तो डॉक्टर कहेगा, angioplasty करवाओ। इस ऑपरेशन मे डॉक्टर दिल की नली में एक spring डालते हैं जिसे stent कहते हैं। यह stent अमेरिका में बनता है और इसका cost of production सिर्फ 3 डॉलर (या ,150 180 रुपया ) है। इसी stent को भारत मे लाकर 3 से, 5 लाख रूपए मे बेचा जाता है व आपको लूटा जाता है। डॉक्टरों को लाखों रूपए का commission मिलता है इसलिए व आपसे बार बार कहता है कि ,angioplasty करवाओ। Cholestrol, BP ya heart attack आने की मुख्य वजह Angioplasty ऑपरेशन। यह कभी सफल नहीं होता। क्यूँकी डॉक्टर, जो spring दिल की नली मे डालता है वह बिलकुल pen की spring की तरह होती है। कुछ ही महीनो में उस spring की दोनों साइडों पर आगे व पीछे blockage (cholestrol या fat) जमा होना शुरू हो जाता है। इसके बाद फिर आता है दूसरा heart attack ( हार्ट अटैक ). डॉक्टर कहता हें फिर से angioplasty करवाओ। आपके लाखो रूपए लुटता है और आपकी जिंदगी इसी में निकल जाती हैं। अब जानिए उसका आयुर्वेदिक इलाज अदरक (ginger juice) - यह खून को पतला करता है। यह दर्द को प्राकृतिक तरीके से 90% तक कम करता हें। लहसुन (garlic juice) इसमें मौजूद allicin तत्व cholesterol व BP को कम करता है। और हार्ट ब्लॉकेज को खोलता है। नींबू (lemon juice) इसमें मौजूद antioxidants, vitamin C व potassium खून को साफ़ करते हैं। साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity) बढ़ाते हैं। एप्पल साइडर सिरका ( apple cider vinegar) इसमें 90 प्रकार के तत्व हैं जो शरीर की सारी नसों को खोलते है, पेट साफ़ करते हैं व थकान को मिटाते हैं। इन देशी दवाओं को इस तरह उपयोग में लेवें 1 एक कप नींबू का रस लें; 2 एक कप अदरक का रस लें; 3 एक कप लहसुन का रस लें; 4 एक कप एप्पल का सिरका लें; अब चारों को मिला कर, धीमीं आंच पर गरम करें और जब 3 कप रह जाए तो उसे ठण्डा कर लें; अब आप ,उसमें 3 कप शहद मिला लें फिर रोज इस दवा के 3 चम्मच सुबह खाली पेट लें जिससे , सारी ब्लॉकेज खत्म हो जा
Просмотров: 18304 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Symptoms Of Metastatic Cancer- मेटास्टेटिक कारण इलाज और लक्षण |Sonali Bendre | Hindi
 
04:05
आइये हम आज बात करते हैं इस metastatic cancer के बारे में , क्या है ये metastatic cancer, क्या हैं इसके लक्षण और क्या ये जानलेवा है? मेटास्टैटिक कैंसर क्या है? मेटास्टैटिक कैंसर, जिसे एडवांस्ड कैंसर भी कहा जाता है, "शरीर के अलग अलग हिस्से में फैलने वाले कैंसर का Medical Term है ।" हालांकि, ऐसे मामले हैं जब एक कैंसर केवल 'स्थानीय रूप से आगे बढ़ता है'।मोटे तौर पर मेटास्टैटिक कैंसर अक्सर stage IV कैंसर होता है। मेटास्टैटिक मेटास्टेसाइज्ड से बना है जिसका मतलब होता है रोग का अंग के एक भाग से दूसरे भाग में स्थान परिवर्तन करना या फैलना मेटास्टैटिक कैंसर की प्रकृति प्राइमरी कैंसर की तरह ही होती है। उदाहरण के लिए, यदि स्तन कैंसर, लीवर , हड्डियों या ब्रेन को मेटास्टेसाइज करता है, तो उसे लीवर / ब़ोन या ब्रेन कैंसर नहीं कहा जाएगा, बल्कि "मेटास्टैटिक ब्रैस्ट कैंसर" कहा जाएगा। Diagnosis of metastatic cancer जब एक रोगी पहले से ही कैंसर का इलाज करा चूका हो और अब देखभाल या हूँ कहें की केयरिंग स्टेज पर हो तब ऐसे में मेटास्टेसिस विकसित हो सकता है । - पप्राइमरी कैंसर और इसकी जगह - उस कैंसर के फैलाव की सीमा - रोगी की उम्र मेटास्टेसिस के टिपिकल ट्रीटमेंट में एक प्रकार की कीमोथेरेपी शामिल होती है, यदि यह काम नहीं करता है तो कीमोथेरेपी को किसी अन्य प्रकार से कीमोथेरेपी में बदला जा सकता है । अक्सर, रोगी को कीमोथेरेपी radiation और यहां तक कि सर्जरी के साथ कीमोथेरेपी भी दिया जा सकता है। Is metastatic cancer curable? ज्यादातर मामलों में, नहीं। कुछ मामलों में यह ठीक हो सकता है लेकिन ज्यादातर मामलों में, मेटास्टैटिक कैंसर केवल धीमा हो सकता है लेकिन curable नहीं है। हालांकि, रोगी कैंसर के साथ महीनों और वर्षों तक जीवित रह सकता है। Signs of metastatic cancer Unexplained weight loss - Persistent cough - Change in bowel habits - Blood coming from anus, in urine or from mouth - Swallowing problems - Unhealed or very slow healing of wounds - A growing inflammation ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 5732 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
UTI के घरेलु उपचार- Home Remedies for UTI-Urine infection - हिंदी
 
06:09
इस वीडियो में हम बात करेंगे यूरिन इंफेक्शन और उसके उपाय के बारे में मूत्र मार्ग संक्रमण यानी एक्शन यूटीआई भी इसके लक्षण और आसानी से पहचाने जा सकते हैं यूरिन इन्फेक्शन पेशाब के दौरान बार बार आपको दर्द या कई बार आपको पेशाब लगना पेशाब के दौरान जलन होना और दोस्तों अगर इन्फेक्शन ज्यादा हो तो बुखार होना और यहां की यहां तक की मस्ती तक भी आती है इसके साथ ही आपके लोअर बैक में दर्द होना भी शुरू हो जाता है तो यह है यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण यूरिन इंफेक्शन वाले व्यक्ति को घर बैठे ही अच्छी खासी परेशानी हो सकती है आमतौर पर यह समस्या एंटीबायोटिक दवाई लेने से ठीक हो जाती है घरेलू उपचार वह हम यह बताएंगे पहले यह जानने की यूरिन इंफेक्शन होता क्या मूत्र जननांग चित्र में यहां बैक्ट्रिया के विकास होने पर मुक्त मार्ग में संक्रमण होता है जैसा की हमने आपको बताया था कि यूरिन इन्फेक्शन का होना आजकल एक आम समस्या बन गई है और यह अक्सर तेज मिर्च मसालों का सेवन अधिक शराब पीने से सिर्फ पानी पीने से और जोर से ज्यादा वक्त पेशाब रोकने से भी हो जाता है इसका एक कारण यह भी देखा गया है कि आप बहुत लंबे समय से बीमार चल रहे हो तब भी अगर आपको सपने सावधानी नहीं बरती तो पेशाब संबंधी विकारों का सामना करना पड़ सकता है दोस्तों गौरतलब है कि यूटीआई यानी यूरिन इंफेक्शन महिलाओं को ज्यादा साफ पानी चाहिए किशोरियों को विशेष गर्मी और बरसात के मौसम में कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए पेशाब लगने पर यानि के जिस समय पेशाब आए उसी समय कर ले तो ज्यादा अच्छा होता है ज्यादा देर तक इसे रोकने की कोशिश नहीं करनी चाहिए क्योंकि पेशाब में बैक्टीरिया होते हैं और जब पेशाब को रोक पर हैं की ऊपर की तरफ बढ़ते हैं और यह व्यक्ति रिया गुप्ता से में संक्रमण का कारण बन जाते हैं अब बात करते हैं इन्फेक्शन से बचने के उपाय यूरिन इंफेक्शन से बचने के लिए एक बहुत ही सरल उपाय एक्शन का दर्द तब होता है हमारे शरीर में यूरिन बहुत समय तक रुके रहे या अधिक व्यक्ति या बढ़ जाते हैं तो भी डर वाली बात है अगर किसी को यूरिन इंफेक्शन हो जाए तो इस तरह के संक्रमण के दौरान अधिक मात्रा में पानी पीए जूस यह शिशु का सेवन करें क्योंकि इससे मूत्र प्रभाव पड़ता है और किसी भी संक्रमण के होने की संभावना कम हो जाती है आइए अब बात करते हैं इंफेक्शन से बचने के लिए कुछ घरेलू उपचार विटामिन सी युक्त जूस पी सकती हैं जैसे आना ना आसिर 10 फूड्स एक्सपोर्ट जैसे मोसंबी नारंगी नींबू संतरा अनार इत्यादि ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए ढेर सारी पानी पीने से बैक्टेरिया का नाश हो जाता है जो कि पानी पी सकते हैं नारियल पानी पीना भी बहुत अच्छा उपाय ध्यान रहे कि जो पानी आपके पेट में ऐसी की मात्रा घटा देता है इसे आपकी पेट को शांति मिलती है ध्यान रखें सिर्फ आपको पेट की शांति की बात हो रही है यूरिन इन्फेक्शन के समय चाय कॉफी चॉकलेट इत्यादि क्यों हाथ भी न लगाएं दालचीनी और ऊंचा चाय की पत्तियां पूसा हाथी अच्छे घरेलू उपचार हैं ऐसे में आप वही यानी मटका भी पीले यह सबसे अच्छा समाधान है पंसारी के यहां से एक जड़ी बूटी मिलती है जिसका नाम इचीनेशिया होता है जो इंफेक्शन को फैलाने वाले व्यक्ति या का नाश करती है ऐसे में हर्बल चाय का सेवन करने से यह बीमारी पूरी तरह से सही हो जाती है दोस्तों इस वीडियो के लिए देखने के लिए धंयवाद अगर आपको हमारी यह वीडियो पसंद आई तो हमारे चैनल को सब्सक्राइब करें ताकि आप हमारे आने वाले वीडियो को मिस ना करें
Просмотров: 61345 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
पुत्र प्राप्ति के सटीक और |सरल उपाय १००% WORKING!!- How to |conceive Boy Child[Hindi]
 
04:09
वैसे तो लड़का हो या लड़की , संतान प्राप्ति का सुख ही आनंद दायक और संतोष जनक होता है, कई बार हम ऐसे दंपत्ति को देखते हैं जो पुत्र ,या पुत्री संतान के लिए लालहित रहते हैं।। तो आइए जानते हैं कि, किन उपायों से आप मनचाही संतान , चाहे पुत्र हो या पुत्री ,की प्राप्ति कर सकते हैं। कुछ राते ये भी है, । जिसमे हमें सम्भोग करने से बचना चाहिए .. अष्टमी, एकादशी, त्रयोदशी, चतुर्दशी, पूर्णिमा और अमवाश्या । चन्द्रावती ऋषि का कथन है कि, लड़का-लड़की का जन्म ,गर्भाधान के समय स्त्री-पुरुष के दायां-बायां श्वास क्रिया, पिंगला-तूड़ा नाड़ी, सूर्यस्वर तथा चन्द्रस्वर की स्थिति पर निर्भर करता है। जैसे , गर्भाधान के समय स्त्री का दाहिना श्वास चले तो पुत्री तथा बायां श्वास चले तो पुत्र होगा। यदि आप पुत्र प्राप्त करना चाहते हैं और वह भी गुणवान। तो आपकी सुविधा के लिए डॉक्टर साहब, पीरियड्स के बाद की विभिन्न रात्रियों की महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं। मासिक स्राव के बाद 4, 6, 8, 10, 12, 14 एवं 16वीं रात्रि के गर्भाधान से पुत्र तथा 5, 7, 9, 11, 13 एवं 15वीं रात्रि के गर्भाधान से कन्या जन्म लेती है। This video will help you to get son or girl child in your womb. following are the process of performing intercourse to get the child of your own. whether its boy child or thr girl child #doctor sahab
Просмотров: 55041 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
शिशु के जन्म के कितने दिनों बाद सेक्स करें-How long Should we wait for ||sex After Child Birth
 
06:42
बच्‍चे के जन्‍म के बाद सेक्‍स करना आसान नहीं होता है, इस दौरान यह काफी दर्द भरा होता है कई बार तो घिन भी लगती है क्‍योंकि प्रसव के बाद ब्‍लीडिंग होती है जो कि लगातार दो से तीन हफ्तों तक होती रहती हैप्रसव के बाद, महिला का शरीर पहले की तरह नहीं रह जाता है स्‍तनों से दूध का निकलना और पेट पर काफी झोल आ जाता है, ऐसे में पार्टनर के साथ शारीरिक सम्‍बंध बनाने में अरूचि होना स्‍वाभाविक होता है हालांकि, डॉक्‍टर सलाह देते हैं कि बच्‍चे के जन्‍म के बाद जोड़ों को आपसी सम्‍बंध बनाना चाहिए, इससे उनके बीच प्रेम बढ़ेगा यह बेहद आवश्‍यक है कि दम्‍पतियों के बीच प्‍यार और देखभाल की भावना बनी रहे और उनके बीच कभी दूरी न आये। sex after having baby is not so easy before going to have sex after child birth we recommend these steps to be taken by the couple who are will to have sex after childbirth, sex position after child birth and the precautions couple shuld take right after child birth before acting sexually.
Просмотров: 92843 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Chicken liver ||Health Benefits and Side-effects ||मुर्गे की कलेजी के फायदे-नुकसान |Doctor Sahab
 
05:02
खान-पान के मामले में सबकी अपनी-अपनी पसंद होती है. किसी को शाकाहारी खाना पसंद होता है तो किसी को मांसाहारी. कुछ लोग तो ऐसे भी होते हैं जो दोनों होते हैं चिकन खाने वालों की संख्या हमारे देश में बहुत ज्यादा है. देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में इसे खाने वालों की तादाद बहुत ज्यादा है. मांसाहारी खाने के शौकीन लोगों की डाइट में चिकन हर दूसरे या तीसरे दिन शामिल होता है. चिकन खाने से शरीर को कई तरह के फायदे पहुंचते हैं. चिकन खाने के शौकीन लोगों को मुर्गे की टांग खाना बहुत पसंद होता है. वह मुर्गे की टांग बहुत चाव से खाते हैं. लेकिन मुर्गे की टांग से ज्यादा फायदा कलेजी खाने पर मिलता है. आज इस आर्टिकल में हम इसी बारे में बात करेंगे. Protect againts anemia Promoting the good eyesight Good for the body tissues Fight againts stress Boost mind, energy and immune system Good for teeth and bones Maintaining the healthy skin, hair and nails Treat the pellagra Preventing loss memory or Alzheimer’s Side Effects of Chicken Liver Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 781 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Get fair vagina || घरेलु तरीके से -Home remedy for ||Dark Vagina 100% working[Hindi]
 
08:03
योनि के आसपास की त्वचा का रंग ,शरीर के बाकि हिस्सों से गहरा होना ना सिर्फ प्राकृतिक है बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है. this video will explaing you to get fairer vaginal libia and look like a porn star. जननांगो के लिए किसी भी तरह की क्रीम को इस्तेमाल प्रिय महिलायें, बात सिर्फ योनि के आसपास की त्वचा की नहीं है ,शिश्न की त्वचा ग साफ़ करने के घरेलू नुस्खे. गोरा रंग किसे पसंद नहीं होता हैं|गाकर हल्के हाथों से मसाज करें व सूखने के बाद आप इसे अच्छे से धो दे| ऐसा कम से कम पपीते का सेवन करें पपीता एक बहुत ही लाभकारी फल हैं| वैसे तो पपीता की तासीर को गर्म माना जाता है, लेकिन यह त्वचा के लिए यह बहुत फायदेमंद होता है| इसमें भरपूर मा दिखाई देगा| नीबू व् शहद का उपयोग का उपयोग करके:- नीबू व् शहद का उपयोग भी हम अपनी त्वचा को निखारने में कर सकते हैं| नीबू के रस में शहद वो गोरी होने लगती हैं| इसके साथ वेजाइना पर मसाज कर सकती हैं, इससे भी आपकी त्वचा को निखारने में मदद मिलती हैं| बेसन, हल्दी, व् गुलाबजल का प्रयोग करें:- बेसन, हल्दी व् गुलाबजल का इस्तेमाल करने से आपको बहुत फाष्ट हो जाता हैं| इसके लिए एक चमच्च बेसन, आधा चमच्च हल्दी,व् में गुलाबजल मिलकर लगाने से थोड़े ही दिनों में असर दिखने लगता हैं| आप इसका प्रयोग अपने किसी भी अंग की त्वचा को निखारने में कर सकते हैं| इसका प्रयोग हमे एक सप्ताह में कम से काम दो बार करना चाहिए, आपको आवश्य ही अच्छा लगेगा| आलू के रस का प्रयोग करें:- आलू के रस का प्रयोग करने से भी त्वचा को निखारने में मदद मिलती हैं| का रंग को साफ़ करने में मदद मिलता ह एलोवेरा का प्रयोग करें:- एलोवेरा का प्रयोग करने से भी आपको आप वेजाइना का रंग साफ़ कर सकते हैं| इसका प्रयोग करने के लिए आप एलोवेरा का टमाटर व् खीरे खीरा व् टमाटर आप खाने के लिए इस्तेमाल करते हैं| और इसके बहुत फायदे होते हैं| आपकी त्वचा इसके लिए खीरे व् टमाटर का पेस्ट हैं| वेजाइना के रंग को गोरा करने के अन्य उपाय:- अपनी वेजाइना को अच्छा से साफ़ सुथरा रखे| बेसन व् गुलाबजल का इस्तेमाल करें| मार्किट में आयी क्रीम का इस्तेमाल करके| पैक्स का इस्तेमाल करें| चीनी का इस्तेमाल करें| अंडे का प्रयोग करें| दही का इस्तेमाल करें| बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करें| सोंफ खाने से भी होता हैं पुरे शरीर की त्वचा का रंग साफ़
Просмотров: 3284 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
स्वेत प्रदर के घरेलु उपचार -Home ||remedy for leucorrhea [Hindi]
 
03:47
स्त्रियों की योनी से, सफेद पानी का बहना एक साधारण समस्या है. इसमें योनी से पानी जैसा स्त्राव होता है. हालांकि ,य़ह खुद कोई रोग नहीं है. लेकिन यह स्त्रियों के लिए बड़ी परेशानी का सबब बन जाता है. इसके कारण चिड़चिड़ापन, पैर-हाथ में दर्द इत्यादि का सामना करना पड़ता है. तो आइए हम जानते हैं कि घरेलू उपायों द्वारा कैसे श्वेत प्रदर को खत्म किया जा सकता है. आपको क्या-क्या करना चाहिए और क्या-क्या नहीं. श्वेत प्रदर ( सफेद पानी ) की समस्या खत्म करने के घरेलू उपाय : हर दिन कच्चा टमाटर खाना शुरू करें. सुबह-शाम 2 चम्मच प्याज का रस और उतनी हीं मात्रा में शहद मिलाकर पिएँ. जीरा भूनकर चीनी के साथ खाने से फायदा होगा. आंवले का रस और शहद लगातार 1 महीने तक सेवन करें. इससे श्वेत प्रदर ठीक हो जायेगा. हर दिन केला खाएँ, इसके बाद दूध में शहद डालकर पिएँ. इसके आपकी सेहत भी अच्छी होगी और श्राव के कारण होने वाली कमजोरी भी दूर होगी. कम-से-कम तीन महीने तक यह उपाय करें, दूध के ठंडा हो जाने के बाद उसमें शहद डालें. कच्चे केले की सब्जी खाएँ. अगर आपके शरीर में खून की कमी है, तो खून बढ़ाने के लिए हरी सब्जियाँ, फल, चुकन्दर इत्यादि खाएँ. 1 केला लें, उसे बीच से काट लें. उसमें 1 ग्राम फिटकरी भर दें, इसे दिन या रात में एक बार खाएँ. लेकिन ध्यान रखें कि अगर दिन में खाना शुरू किया तो, दिन में हीं खाएँ. और अगर रात में खाना शुरू किया हो, तो रात में हीं खाएँ. तले-भूने चीज या मसालेदार चीज नहीं के बराबर खाएँ. योनी की साफ-सफाई का ध्यान रखें. मैदे से बनी चीजें न खाएँ. एक बड़ा चम्मच तुलसी का रस लें, और उतनी हीं मात्रा में शहद लें. फिर इसे खा लें. इससे आपको आराम मिलेगा. अनार के हरे पत्ते लें, 25-30 पत्ते…. 10-12 काली मिर्च के साथ पीस लें. इसमें आधा ग्लास पानी डालें, फिर छानकर पी लीजिए. ऐसा सुबह-शाम करें. भूने चने में खांण्ड (गुड़ की शक्कर) मिलाकर खाएँ, इसके बाद 1 कप दूध में देशी घी डाल कर पिएँ. 10 ग्राम सोंठ का, एक कप पानी में काढ़ा बनाकर पिएँ. ऐसा एक महीने तक करें. पीपल के 2-4 कोमल पत्ते लेकर, पीस लें. फिर इसे दूध में उबालकर पिएँ. 1 चम्मच आंवला चूर्ण लें और 2-3 चम्मच शहद लें. और इन्हें आपस में मिलाकर खाएँ. ऐसा एक महीने तक करें. खूब पानी पिएँ. सिंघाड़े के आटे का हलुआ और इसकी रोटी खाएँ. 3 ग्राम शतावरी या सफेद मूसली लें, फिर इसमें 3 ग्राम मिस्री मिलाकर, गर्म दूध के साथ इसका सेवन करें. नागरमोथा, लाल चंदन, आक के फूल, अडूसा चिरायता, दारूहल्दी, रसौता, इन सबको 25-25 ग्राम लेकर पीस लें. पौन लीटर पानी में उबालें, जब यह आधा रह जाय तो छानकर उसमें 100 ग्राम शहद मिलाकर दिन में दो बार 50-50 ग्राम सेवन करें. माजू फल, बड़ी इलायची और मिस्री को बराबर मात्रा में पीस लें. एक सप्ताह तक दिन में तीन बार लें. एक सप्ताह के बाद फिर दिन में एक बार 21 दिन तक लें.
Просмотров: 807 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
गर्भ ठहरने से बचने के लिए ||घरेलू  नुस्‍खे-Home remedies to ||prevent pregnancy[Hindi]
 
03:12
अनचाही प्रेगनेंसी, आपके खास पलों को दुखद एहसास में बदलने की कोई कोर कसर नहीं छोड़ती, ऐसे में जोड़ा हर संभव तरीके से अनचाही प्रेगनेंसी बचने की कोशिश करता है, लेकिन क्या आपको पता है कि कंडोम के बिना भी आप अनचाही प्रेगनेंसी से बच सकती हैं। जी हां, सेक्स करते समय कुछ देसी नुस्खे अपनाएं, और आपके ऊपर कभी नहीं मंडराएगा अनाचहे गर्भ का खतरा। सेक्स के दौरान जरूर रखें इन बातों का ध्यान और आप कभी अनचाहे गर्भ की शिकार नहीं होंगी- महिलाओं की माहवारी से पांच दिन पहले और पीरियड के पांच दिन बाद के काल को सुरक्षित संभोग काल माना गया है। इस दौरान आप दोनों बिना कंडोम के सहवास का आनंद उठा सकते हैं। यही नहीं, इस सुरक्षित काल में आपको पत्‍नी का साथ भी भरपूर मिलेगा, क्‍योंकि इस दौरान स्‍त्री के अंदर भी तीव्र सेक्‍स इच्‍छा जग उठती है। हां, पीरियड की गणना सही तरीके से करें। गर्भ ठहरने से बचने के लिए सदियों से चले आ रहे कुछ घरेलू नुस्‍खे: सेक्स करते समय प्‍याज का रस योनी में रखने पर शुक्राणु बेसर हो जाते हैं। पीरियड के बाद लहसुन की दो कलियां छीलकर निगल जाएं तो गर्भ नहीं ठहरेगा। पीपल, सुहागा व बायबिडंग को बराबर-बराबर लेकर पीस लें। जिस दिन पीरियड आरंभ हो उस दिन से सात दिनों तक छह ग्राम चूर्ण पानी से खाएं, एक वर्ष तक गर्भ नहीं ठहरेगा। तालीसपत्र व गेरू को 25 ग्राम लेकर चार दिनों तक ठंडे पानी से पीने से स्‍थाई बांझपन आ जाती है।
Просмотров: 43694 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
स्तन कैंसर के लक्षण-BREAST CANCER SYMPTOMS , DIAGNOSIS [HINDI]
 
03:39
स्तन कैंसर महिलाओं के लिए एक अभिशाप है. क्योंकि यह जानलेवा तो है हीं, और बच जाने पर भी स्तनों को ऑपरेशन के जरिये निकलना पड़ता है. और स्तनों के बिना किसी भी महिला का व्यक्तित्व अपना आकर्षण खो देता है. तो अगर आप महिला हैं और स्तन कैंसर को लेकर जागरूक नहीं हैं, तो जागरूक हो जाइए…. ताकि आप इस बीमारी से बची रहें. तो आइए जानते हैं कि स्तन कैंसर के प्रारम्भिक लक्षण क्या हैं, शुरुआत में हीं इसकी रोकथाम कैसे की जा सकती है. और हम यह भी जानेंगे कि इस मामले में लापरवाही की आपको क्या-क्या कीमत चुकानी पड़ सकती है. हम स्तन कैंसर के इलाज के बारे में भी जानेंगे. Breast cancer is the most common form of cancer in women. In this animation we explain what cancer is and how it can develop in the breasts. Furthermore, we describe the different symptoms that are possible signs for breast cancer and the risk factors associated with this disease. Furthermore, we name the different types of breast screening methods (such as mammography) and the treatment options that are available. Doctor sahab makes complex medical information easy to understand. With audio and visual illustration. checked by medical specialists, we give information on certain diseases: what is it, what are the causes and how is it treated? Subscribe to our Youtube channel Doctor sahab and learn more about your health!
Просмотров: 36735 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
कीडे रोशनी के तरफ क्यूँ आते हैं || Why do moth attract to Light |Doctor Sahab
 
04:20
आखिर क्या कारण है के ये कीड़े मकौड़े हमेसा कृत्रिम रौशनी के तरफ ही आकर्षित होते हैं , अगर ये रौशनी के तरफ आकर्षित होते हैं तो फिर ये दिन की रौशनी में क्यूँ नहीं आते , बचपन से ये सवाल आप के दिमाग में रहा होगा. है न ? तो आइये आज इस विडियो में हम इसी बात को समझने की कोशिश करते हैं . entomologist Philip Callahan ने 1970 के दशक में इससे जुडी एक थ्योरी में ये कहा के कृत्रिम रौशनी से निकलने वाली infrared किरणें ठीक वैसी ही तरंगे छोडती हैं जैसी की मादा कीडे प्रजनन के लिए छोडती हैं , जिसका पीछा करते हुए ये कीडे मकौडे रौशनी की ओर बर्बस खीचे चले आते हैं. हालांकि ये अब तक की सब से सटीक और प्रमाणित थ्योरी नहीं है. क्योंकि ये बात cockroaches जैसे कीड़ों पर लागु नहीं होती क्यूंकि cockroaches तिलचट्टे ये अक्सर रौशनी को देख कर भाग खड़े होते हैं . हाँ लेकिन एक बात तो निश्चित है की ये कीडे उन रोशनियों की तरफ ज्यादा आकर्षित होते जो ज्यादा मात्र में UV किरणों का उत्सर्जन करते हैं. खास कर LED BULB की तरफ इनका आकर्षण कम होता है . - Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 960 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
सेक्स न करने से होने वाले 5 हैरान करने वाले नुकसान|| When You Stop Having Sex||Hindi
 
03:28
सेक्स करने के फायदे तो आप ने बहुत सारे विडियो और आर्टिकल्स देखे होंगे , आप ने सेक्स के नुकसान से भी जुडी, ढेरों सामग्रियां देखीं होंगी, लेकिन क्या आप जानते हैं , के, सेक्स करना बंद कर देने से क्या होता है , क्या सेक्स करना बंद करना फायदेमंद है या नुकशान देह ,तो आइये आज हम जानते हैं के क्या होता है , जब आप सेक्स करना छोड़ देते हैं , मानसिक कमजोरी erectile Dysfunction सेल्फ स्टीम में कमी सेक्स न करने से होने वाले 5 हैरान करने वाले नुकसान||When you Stop Having. सेक्स में कमी, आपकी सेल्फ एस्टीम और गिल्ट की भावना में बढौतरी लाता है साथ ही कुछ हारमोंस और oxytoxin के श्राव को भी कम करता है. प्राकृतिक lube में कमी या योनि में सूखापन experts की माने तो , arousal या उत्तेजना से ,आपकी योनि में प्राकृतिक चिकनाई बनी रहती है, जो आपके योनी में होने वाले इन्फेक्शन से आप की सुरक्षा करता है ,वहीँ ,सेक्स न करने से योनी की चिकनाई में होने वाली कमी की पूर्ति के लिए आपको artificial lubricant का सहारा लेना पड़ सकता है. bladder कंट्रोल्ड में कमी सेक्स के दौरान होने वाली उत्तेजन और स्खलन या orgasm से, आपके pelvic muscle में सिकुडन और संकुचन होती है , जिससे आप के bladder की सेहत सुधरती है ,pelvic muscles, आप को आपातकाल में पेशाब रोकने में मदद करता है . तो, ये थीं सेक्स न करने के कुछ दुष्प्रभाव , experts का मानना है के आप को कम से कम , एक सप्ताह में २ बारी सेक्स जरूर करना चाहिए. सब्सक्राइब करें और पायें ऐसे है ढेरों विडियो, सबसे पहले. डॉक्टर साहब जियें खुलकर . - Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm _ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 674 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
गुदा मैथुन कैसे करें , सही गलत तरीका और आनंद कैसे पायें ||First Time Anal Sex
 
04:50
this video is all about anal sex and anal sex elated queries , viz how o do anal sex and how to ask for anal to your partner whether you are homosexual or heterosexual लोग सेक्स कई प्रकार से करते है और कई लोग गुदा मैथुन का भी आंनद लेते हैं जबकि दूसरों को गुदा मैथुन करने में शर्म आती है और इसे गंदा मानते हैं, गुदा मैथुन को प्रायः वर्जित या निषिद्ध माना जाता है मज़ा देता है गुदा मिथुन- गुदा को सहलाया जाना अच्छा लग सकता है, गुदा में उंगली प्रवेश कराया जाना भी अच्छा लग सकता है जब आप पहली बार छूते हैं तो गुदा-द्वार सिकुड़ कर बंद हो जाता है- इसे मांसपेशी की त्वरित प्रतिक्रिया कहते हैं. कुछ देर तक वहां उंगली लगाए रखें, उसके बाद आप आगे बढ़ सकते हैं. संभावनाएं- हस्तमैथुन करते समय अपनी गुदा को छूएं. सेक्स करते समय अपने साथी की गुदा सहलाएं,अंडकोष और गुदा के बीच के स्थान (मूलाधार या पेरीनियम) को दबाएं और सहलाएं. पुरस्थ ग्रंथि को छूना- लड़कों की गुदा के कुछ अंदर पुरस्थ ग्रंथि को महसूस किया जा सकता है, यह लड़के के शरीर का, बहुत अधिक संवेदनशील अंग होता है. यह स्थान, गुदा द्वार, से पेट की ओर लगभग 5 सेंटीमीटर अंदर होता है. कुछ लड़कों को, उनकी पुरस्थ ग्रथि को छूने से यौन उत्तेजना महसूस होती है. गुदा, जननांग के पास होती है, जहां कई तंत्रिकाओं का अंतिम सिरा होता है, और आपको चरम आनंद महसूस होने पर यह संकुचित होती है इसीलिए गुदा मैथुन अच्छा लगता है. दर्द- गुदा मैथुन करते समय, दर्द नहीं होना चाहिए. लेकिन यदि आपको इस बारे में कोई अनुभव नहीं है, तो यह कष्टदायी हो सकता है. सेक्स के समय चिकनाईयुक्त, पदार्थ का प्रयोग करें और सहज रहें, तो दर्द चला जाता है. जब गुदा में लिंग प्रवेश कराते समय दर्द होता है, तो उसे सावधानीपूर्वक बाहर निकाल लें. बिना कठिनाई के गुदा मैथुन करने हेतु सुझाव- जल्दबाज़ी न करें. सावधानी से और सौम्यता से आरंभ करें, एक-दूसरे को सहज होने का मौका दें. हमेशा जल-आधारित चिकनाईयुक्त पदार्थ का
Просмотров: 9086 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
पेट बढ़ने के ये  कारण भी जरूर जाने-Reasons for blotted tummy-[हिंदी]
 
05:17
आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में पेट का बढ़ना या पेट में चर्बी हो जाना आम बात है यह तो देखा गया है कि आप इतना भी स्वस्थ जीवन जीये थायरायड एक ऐसी बीमारी है जिससे अमूमन हर तीसरी महिला ग्रस्त है। महिलाओं मे थायरॉइड का खतरा ज्यादा होता है। अक्सर महिलाएं लापरवाही के चलते समय रहते इसको गंभीरता से नहीं लेती। लेकिन आयु बढने के साथ थॉयराइड की समस्या बढ़ जाती है। थायरौईड की ग्रंथि गले के दोनों तरफ कंठ के तल में होती हैं और इनका आकार एक तितली की तरह होता है।थायरोइड हर्मोने सरीर के मेटाबोलिज्म या खाना पचने की प्रक्रिया जैसी पप्रोटीन क्रेबोह्य्द्रते को तोड़ने का काम करती है. इसमें वृधि के कारण फैटी एसिड में वृद्धि हो जाती है जो मोटापा बढ़ता हैं आज के समय में बच्काह हो या बूढा तनाव सभी को रहता है . बच्चो को स्कूल की चिंता है तो बड़ों को स्कूल फीस की चिंता . कुल मिला कर चिंता सभी को रहती है . तनाव को अपने ऊपर कवी हावी नहीं होना चाहिए . तनाव के दौरान Adrenal Gland ek hormone ko istravit karti hai. Jisee cortisol kahte hai. Iss hormone mai aise gun hota hai ki tanav ki trivta aur badha jati hai. Iss hormone ke karan fats ke istar mai bhi badhotari hoti hai. शोधकर्ताओं के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति मोटा है तो अक्सर डिप्रेशन उसे घेर लेता है। इसी तरह डिप्रेशन के शिकार लोग मोटापे की गिरफ्त में आ जाते हैं। अपने अध्ययन के दौरान शोधकर्ताओं ने पाया कि मोटे लोगों के अवसाद से ग्रसित होने की संभावना अधिक होती है, क्योंकि वे खुद को हमेशा दूसरों की अपेक्षा कमतर आंकते हैं। मोटे लोग अक्सर नकारात्मक सोच रखते हैं जो अवसाद का प्रमुख कारण है।4 करोड़ 20 लाख से भी ज्यादा भारतीयों को थायराइड की समस्या है। डायबीटीज के बाद सबसे ज्यादा लोग थायराइड की समस्या के शिकार हैं और वजन बढ़ने व डिप्रेशन जैसी समस्याओं से जूझ रहे 90 प्रतिशत लोगों को जानकारी ही नहीं है कि उन्हें थायराइड की शिकायत है। #adima यानि सरीन में सुजन या पानी भरना आदिम में आप के सरेर में पानी भ्हारें लगता है और पूर असरीर सूज जाता अहि. ऐसा देखा गया है की अगर अआप के परिवार में मोटापे की समस्या आम है तो अप व् इससे बच नहीं सती लेकिन अच्छी बात है क प्रयाप्त सावधानी और एक्सरसाइज करके आप पेट के बड़े हिने की समस्या से बाख सकते हैं, मोटापे के लिएय कुछ हद तक जीन्स भी responsible होते हैं.
Просмотров: 51434 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
20 एनल सेक्स पोजीशन 20 ||best Anal Positions-[Hindi]
 
02:56
लड़कियों को यह ध्यान रखना होगा की वे अपने गुदा द्वार को छूने के बाद अपने योनि द्वार को न छुएं। यदि उनके साथी गुदा मैथुन कर रहे हों तो ध्यान रखें की वे लिंग को गुदा द्वार से निकाल कर सीधे योनि द्वार में न डाल दें। ऐसा करने से आँत क्षेत्र के जीवाणु योनि में प्रवेश कर सकते हैं और मूत्राशय में संक्रमण हो सकता है या फिर, यौन संचारित रोग हो सकता है। कई लेाग गुदा मैथुन का आंनद लेते हैं। जबकि दूसरों को इसमें शर्म आती है और इसे गंदा मानते हैं। गुदा मैथुन को प्रायः वर्जित या निषिद्ध माना जाता है। बिना कठिनाई के गुदा मैथुन करने हेतु सुझाव - जल्दबाज़ी न करें। सावधानी से और सौम्यता से आरंभ करें, एक-दूसरे को सहज होने का मौका दें। - हमेशा जल-आधारित चिकनाईयुक्त पदार्थ का प्रयोग करें। - हमेशा कंडोम का प्रयोग करें। गुदा के अंदर आसानी से संक्रमण हो सकता है। आपकी गुदा की चमड़ी में छोटे-मोटे घाव या खरोंचे आसानी से लग सकती हैं, जिससे एचआईवी या दूसरे यौनसंचारित रोगों के संक्रमण का जोखिम बढ़ जाता है। यदि आपका कंडोम फट जाता है, तो आपको चिकित्सालय में जाकर डाक्टर से यौनसंचारित रोगों की जांच करानी चाहिए। यदि आपकी इच्छा नहीं है या नहीं हो पाता है तो गुदा मैथुन न करें, कोई और तरीका अपनाएं जिससे आपको आनंद मिलता है। साफ-सफाई को लेकर चिंतित हैं? - गुदा मैथुन शुरू करने से पहले सुनिश्चित कर लें कि आप मल त्याग कर चुके हैं। आप साथ-साथ स्नान भी कर सकते हैं। - यदि गुदा मैथुन के बाद आप योनि-संभोग करते हैं तो नए कंडोम का प्रयोग करें। यदि आपने बिना कंडोम के गुदा मैथुन किया है तो कम से कम अपने लिंग को धोकर साफ़ कर लें। ऐसा ही डिल्डो और वाइब्रेटर का प्रयोग करते समय भी करें। - यदि आप कोई वस्तु गुदा में प्रवेश कराते हैं तो यह सुनिश्चित कर लें कि यह सही आकार की है। उसका अगला सिरा गोल होना चाहिए और बाहरी सिरा, शेष भाग से चैड़ा होना चाहिए, अन्यथा यह गुदा में खींची जा सकती है और वहीं फंस सकती है। गुदा मैथुन द्वारा आप गर्भवती नहीं हो सकती हैं। लेकिन यदि शुक्राणु आपकी योनि में प्रवेश कर जाते हैं तो आप गर्भवती हो सकती हैं। गुदा मैथुन के दौरान प्रचुर मात्रा में जल-आधारित चिकनाई युक्त पदार्थ (वाटर बेस्ड लूब्रीकेंट) का उपयोग करने से लिंग आसानी से गुदा द्वार में जा सकता है। तेल-आधारित चिकनाई युक्त पदार्थ (आयल बेस्ड लूब्रीकेंट) का उपयोग ना करें, क्योंकि यह कण्डोम को खराब कर सकता है और इसलिए यौन संचारित संक्रमण से बचाव नहीं हो पाता है।
Просмотров: 29089 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
कम नमक खाने से हो सकता है भारी नुकसान || why we should not cut our salt Intake|Doctor Sahab
 
05:01
आप के घर , दफ्तर , अडोस-पड़ोस या फिर किसी सोशल मीडिया पोस्ट ने आप को कभी न कभी कम नमक के सेवन के बारें में ज्ञान जरूर दिया होगा, ज्यादा नमक खाने से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है ,ये दिल के रोगों को बढ़ाता है इत्यादि , लेकिन क्या नमक के बारे में बताई गई ये बात सही है , क्या हमेसा कम नमक खाना हमे heart attack जैसे गंभीर समाश्या से बचाता है . क्या कम नमक खाना स्वस्थ्य के दृष्टी से सही है और कैसे जाने की हम कितना नमक खाए जो न कम हो न ज्यादा ,तो आइये दोस्तों , आज के इस विडियो में हम ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब जानेंगे . विडियो पसंद आई तो लाइक करना न भूले . आप के समय के लिए धन्यवाद. मिलते हैं अगली विडियो में एक नए जानकारी के साथ . डॉक्टर साहब , जियें खुल कर . - Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 609 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Make her Discharge in 1 Minute|| लड़की को १ मिनट में संतुष्ट करें ||Hindi
 
03:30
आप की पार्टनर तभी संतुस्ट हो सकती है जब वो डिस्चार्ज करती है , परन्तु अक्सर देखा गया है ये महिला के डिस्चार्ज करने से पहले ही पुरुष स्खलित हो जाता है ,इसका मतलब है के आप अपने महिला पार्टनर को संतुस्ट नहीं कर पते हैं , अगर आप भी इस समाश्या से झूझ रहे है और नीम हकीम के चक्कर में पडे है. या पड़ने की सोच रहे हैं तो ये विडियो आप की लिए ही है .-एक tablespoon या बड़े चम्मच दालचीनी को लेकर बारीक़ पिस लें , फिर इस पिसे हुए दालचीनी में ३ चम्मच शेहेद का मिला ले , अब आप की दवाई तैयार है , चलिए अब बात करते हैं इसके इस्तेमाल की . जब आप सम्भोग करें वाले हो तो ठिक १५ मिनट पहले इसका थोडा सा लेप अपने लिंग के अग्रभाग पर लगा लें, अगर आप के लिंग पर स्किन है तो उसे पीछे करके लगाये , इसे यूँ ही लगा रहें दें , तब तक आप पाने पार्टनर का नाजुक अंगों के साथ खेलें, उनके कान के पीछे चूमे , झांघों पर गरम सांसें छोड़ें और ऐसे ही फोरप्ले करते रहे , जब आप लिंग हो योनी में प्रविष्ट करने वालों हो तो लिंग पर लगे लेप को अच्छी तरह से पानी से धो लें , ऐसा करने से आप अपने लिंग में असाधारण कडापन महसूस करेंगे साथ ही आप के डिस्चार्ज की duration भी कई गुना बढ़ जाएगी , साथ ही आप की पार्टनर भी जल्दी डिस्चार्ज हो जायेगी . वैसे तो बाज़ार में बोहुत सारी दवाइयां उपलब्ध हैं जो आप को लम्बे समय तक सेक्स करने की एबिलिटी देती है , लेकिन साथ ही इनके कई साइड इफेक्ट्स भी हैं , इसलिए आब ज्यादा से जायदा नेचुरल तरीकों के इस्तेमाल से अपने मरदाना ताकत बढ़ाने का प्रयाश करें. सेक्स duration को बढ़ने के लिए टूथपेस्ट के इस्तेमाल के -https://youtu.be/EbVMW7nH7HQ Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 225 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
AIDS के लक्षण||एड्स क्या है ||Symptoms of AIDS, HIV [Hindi]
 
03:09
H I V एक ऐसी बीमारी है, जिसके बारे में जितनी जल्दी पता चल जाए, उतना अच्छा है. एचआईवी एड्स एक यौन संचारित रोग है. शुरुआत में इस बीमारी का इलाज नहीं करने से यह एड्स का रूप ले लेती है. इस विडियो में हम HIV के लक्षणों के बारे में जानेंगे.एचआईवी HIV के शरुआती लक्षण: हमेशा बिना किसी कारण के हमेशा थकान महसूस करना HIV का लक्षण हो सकता है. और अगर थकावट हद से ज्यादा हो, तो आपको इसे बिल्कुल गम्भीरता से लेने की जरूरत है. अगर कम उम्र में हीं आपके जोड़ों में बहुत ज्यादा दर्द रहने लगे और सूजन होने लगे, तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है. हर दो-तीन दिन में बुखार आ जाना और ऐसा बार-बार लगातार होना HIV का लक्षण हो सकता है. बिना किसी ठोस कारण के मांसपेशियों में तनाव या अकड़न होना भी HIV का लक्षण हो सकता है. अगर आपको अक्सर गला पकने की शिकायत हो, तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है. गले में अक्सर खरास रहना, इसका लक्षण है. बिना किसी कारण, अगर आपके सर में अक्सर दर्द रहता है और दिन चढ़ने के साथ दर्द बढ़ता जाता है, तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है. अगर धीरे-धीरे आपका वजन जरूरत से ज्यादा कम होता हीं जा रहा है, तो यह भी HIV का लक्षण हो सकता है. अक्सर शरीर में लाल-लाल चकते हो जाना या रैसेज हो जाना भी HIV का एक लक्षण हो सकता है. अगर आप बिना किसी कारण के अक्सर तनावग्रस्त हो जाते हैं, तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है. खाना खाने के बाद अक्सर बिना किसी कारण के उल्टी आ जाना या जी मचलना भी HIV का एक लक्षण हो सकता है. अगर मौसम सामान्य रहने के बावजूद आपको अक्सर जुकाम की समस्या रहती हो, नाक बहता रहे तो यह भी HIV का एक लक्षण हो सकता है. HIV Aids से बचने का सबसे अच्छा उपाय यह है कि आप सम्बन्ध बनाते समय हमेशा कॉन्डोम का उपयोग करें. अगर आपको HIV की आशंका हो, तो तुरन्त डॉक्टर से जाँच करवाएँ._ I don't like sex-सेक्स करने इच्क्षा नहीं होती ,||नेचुरल वियाग्रा ||बीवी को खुश कैसे करें [Hindi]-https://www.youtube.com/edit?o=U&video_id=sRgQjoK_rmA Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 5384 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Fake Plastic Eggs in  India made by china  सावधान!  प्लास्टिक के अंडे कैसे करें पहचानHindi
 
02:49
हाल ही में कोलकाता के बाजार में अंडों की ऐसी खेप पकड़ी गई है जिन्हें प्लास्टिक का बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि ये अंडे चाइना से आए थे। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। इन खबरों के मद्देनजर सीनियर फिजिशियन डॉ. रतन वैश्यका कहना है कि अगर आप अंडे खाते हैं तो आपको सावधान रहने की जरूरत है। प्लास्टिक के अंडे खाने से हेल्थ पर बहुत निगेटिव इम्पैक्ट पड़ सकता है। इसलिए अंडे खाने से पहले उनकी अच्छी तरह से जांच कर लेनी चाहिए। news source : Dainikbhaskar.com Recently police have captured a huge supply of chinese eggs exported in Indian market. Reports are these eggs look alike in shape size and texture. in this video we will show you the process to idetify the chinese eggs. The basic difference between regular eggs and chinese eggs made of plastic. chinese eggs are made of plastic and look same as the original eggs. watch the video for entire details.
Просмотров: 465 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
छिपकिली, मच्छर, चीटियों,चूहे, कॉकरोच,भगाने के घरेलू उपाय -||get rid of Insects-Hindi]
 
03:22
घरों में छिपकली, चूहे, कॉकरोच हों तो कई बीमारियां भी दस्तक देती हैं। भले कितनी ही साफ-सफाई क्यों न रखी जाए, लेकिन ये बिन बुलाए मेहमान आ ही जाते हैं। ऐसे में इनसे छुटकारा पाना बहुत जरूरी है। क्योंकि, ये गलती से भी काट ले, या भोजन में इनकी गंदगी गिर जाए, तो पूरे घर की सेहत पर बन आती है। इस विडियो में हम आपको बताने जा रहे हैं इनसे बचने के कुछ ऐसे ही घरेलु सटीक टिप्स। छिपकलियां को भगाने के तरीके : लहसून की गंध से छिपकलियां नफरत करती हैं और इसी नफरत का फायदा आप उठा सकते हैं. लहसून की कलियां दीवारों और दरवाजों पर टांग दें, और आप देखेंगे की छिपकलियां आप के घर के अन्दर फटकेंगे भी नहीं. अगर आप नॉन vegetarian हैं तो अण्डों के छिलकों का भी इस्तेमाल कर सकती हैं नैफ्थिलिन की गोलियां भी छिपकलियां को दूर रखने में कारगर साबित होती है , घर के कोनो में इन गोलियों को रखें और परिणाम देखें . छिपकलियां को भगाने के लिए मोर पंख रामवाण और प्रमाणित तरीका है चूहों को भगाने के तरीके : piperment oil, cotton में लेकर, चूहों के गड्डे, या फिर उनके घर में घुसने वाली जगह पर रखने से, चूहे नहीं आयेंगे . जहाँ से चूहे आते हैं, वहां पर लाल मिर्च का पाउडर रखना भी, कारगर तरीका है पुदीना के पत्तों को, चूहों को भगाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं प्याज के slice चूहों को दूर रखते हैं खटमल को भगाने के तरीके : पुदीना के पत्तों को बिस्तर या गद्दों के आस पास रखने से खटमल मर जाते हैं आजवाइन के फूल effected area में फैला दे और खटमलों से मुक्ति पायें प्याज के रस, या नीम के तेल का spray करें, या फिर ,नीम के पत्तियों को गद्दों के नीचे रखें मच्छरों को भगाने के तरीके : खिड़की और दरवाज़े के पास, तुलसी के पौधे रखने से, घर में मच्छर नहीं घुसते हैं . अगर घर में मच्छर घुस गए हैं तो, घर पूरी तरह से बंद कर के, नीम की सुखी पत्तियां जलायें और थोड़ी देर बाद, खिड़कियाँ और दरवाजे खोल दे . लहसून की कुछ कलियां पीस कर , कोनों में स्प्रे करने से मच्छर भाग जाते हैं, लेकिन ध्यान रहे की ऐसा करने से घर में लहसून की बदबू फ़ैल जाएगी . कॉकरोच भगाने के तरीके : पानी में baking soda डालकर पोछा लगाने से कॉकरोच नहीं आते सीलन वाली जगह, जैसे आलमारी , दराज , में बोरिक पाउडर छिड़क दें घर के कोनों में ,खास कर किचन और sink के आस पास कुछ लॉन्ग रखने से कॉकरोच पास नहीं आते चीटियों को भगाने के तरीके : white विनेगर , पानी में मिला कर जहाँ से चीटियाँ आती हैं , वहां पोछा लगायें पोछा लगते समय पिपरमिंट की कुछ बूंदे मिलाने से असर दोगुना हो जाता है . घर के कोनों, में दालचीनी रखने से चीटियां नहीं आतीं
Просмотров: 3375 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Cough Syrup- Codeine Addiction, ||क्यूँ करते हैं लोग नशा || पहचाने Cough Syrup का नशा करने वाले को
 
05:29
हमने एक ऐसे ही नसेड़ी से पूछा के क्यूँ करते हो ऐसा , तो उसने एक टूक जवाब दिया, घर पर मम्मी पापा होते हैं , ऐसे मे दारू पी कर घर गया तो सब को पता चल जाएगा, लेकिन वहीं इस cough syrup का नशा करने के बाद मुह से बदबू नहीं आती और किसी को पता नहीं चलता, वहीं कुछ और लोगों ने कहा के इसका मज़ा ही कुछ और है , मोटे तौर पर जीतने लोग उतनी बातें, लेकिन नशे के लिए cough syrup का प्रयोग जितना खतरनाक है उसके परिणाम भी उतने ही जानलेवा है। दरअसल इस cough syrup मे दो तत्व होते हैं , Codeine और Triprolidine। जिसमे Triprolidine आपके ख़ासी का मुख्य कारण cough को कम करता है वही , Codeine आप के दिमाग मे खांसी को कंट्रोल करने वाले न्यूरॉन या नसों को suppress करता है जिससे आप को बार बार खांसी आती है , यानि एक दवाई तो आप के खांसी का इलाज़ करता है , वही दूसरी दवाई आप को खांसी आने से रोकता है , यही दूसरा तत्व Codeine जो आप के दिमाग मे पहुँचने वाले सिग्नल को supress करता है, उसे धीमा करता है , अगर आप जादा मात्र मे ले ले तो आप को नशे मे होने की अनुभूति देता है , और बस यही कारण है के ये मीठा नशा करने वाले इसके आदि हो जाते हैं , आप खांसी के इलाज के लिए क्या करते हैं , दीदी माँ के नुस्खे, डॉक्टर की सलाह इत्यादि, आप आम तौर पर जब डॉक्टर के पास जाते हैं तो डॉक्टर आप को आमूमन 2-4 antibiotic की गोलियां और एक cough syrup की बॉटल देता है , जिसका सेवन आप डॉक्टर के कथाननुसर करते हैं, लेकिन यही cough syrup की बॉटल एक और खास वर्ग के लोगों के बीच काफी पॉपुलर है , उन्हे खांसी हो या न हो , लेकिन ये cough syrup की बॉटल उनकी रोज की खुराक है , और वो भी मेरी आप की तरह नहीं जो डॉक्टर के कहे अनुसार एक दो ढक्कन cough syrup का सेवन करते हैं , बल्कि पूरी की पूरी बॉटल एक बार मे और कुछ को तो ये cough syrup की बॉटल दिन के कई बार चाहिए होती है , #Codeine addiction #Cough Syrup #Addiction ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use. #DoctorSahab #Coughsyrup
Просмотров: 156 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Masturbation||हस्थ्मैथुन या मुठ मारना || कैसे रोकें|| बाबाओं द्वारा फैलाई गई भ्रान्ति ||Hindi
 
05:02
अपने जनांग को यौन तृप्ति खासकर चरमुत्कर्ष की प्राप्ति के लिए उत्तेजित करना हस्थ्मैथुन या masturbation कहलाता है , इस क्रिया में मूलतः पुरुष या स्त्री अपने जननांग यानि पुरुष लिंग या स्त्री अपने भगनासा या clitoris की मसाज यौन तृप्ति के लिए करते हैं .95% पुरुष और 89% महिला आप तौर पर हस्थ्मैथुन का सहारा अपने यौन तृप्ति के लिए लेते हैं , या यूँ कहें की ये बढे होते लड़के और लड़किओं के लिए पहला सेक्सुल एक्ट एक्स्प्रिएंस होता है. अच्छे अनुभूति के साथ साथ ये उन लोगो में काफी पोपुलर है जो सेक्सुअल टेंशन को रिलीफ करने का आसन तरीका तलासते हैं ,खास कर वैसे पुरुष या स्त्री जिनका कोई सेक्सुल पार्टनर नहीं होता हालांकि एक सर्वे की माने तो कुछ लोग शादी के बाद भी हस्थ्मैतुं का आनद लेना पसंद करते हैं . लोगों के मन में एक बात हमेसा घर कर जाती है की क्या ये सही है , कहीं इससे कोई नुकशान होता है , कितना करना ज्यादा नहीं होता इत्यादि तो आइये इस विडियो में हम इसी बात पर एक चर्चा करते हैं . हस्तमैथुन एक आम गतिविधि है। यह आपके शरीर ko समझने , आनंद महसूस करने और यौन तनाव को मुक्त करने का एक प्राकृतिक और सुरक्षित तरीका है। , यह सभी पृष्ठभूमि, लिंग, और दौड़ के लोगों के बीच होता है। मिथकों के बावजूद, वास्तव में हस्तमैथुन के शारीरिक रूप से हानिकारक दुष्प्रभाव नहीं हैं। हालांकि, अत्यधिक हस्तमैथुन नकारात्मक रूप से आपके रिश्तों और रोजमर्रा की जिंदगी को प्रभावित कर सकता है। इसके अलावा, हस्तमैथुन एक मजेदार, सामान्य और स्वस्थ कार्य है।हस्तमैथुन केवल तब एक समस्या माना जाता है जब यह किसी साथी के साथ यौन गतिविधि को रोकता है, पब्लिक में किया जाये है, या फिर व्यक्ति के महत्वपूर्ण परेशानी का कारण बनता है जब इसे अनिवार्य रूप से किया जाता है या दैनिक जीवन और गतिविधियों में हस्तक्षेप करता है। ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 288 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
वियाग्रा के फायदे और नुकसान||Viagra men and women|Side effect of Viagra
 
05:52
वियाग्रा के फायदे और नुकसान,Viagra men and women history of Viagraवियाग्रा का इतिहास वियाग्रा का इस्तेमाल, जितना रोमांचक है वहीँ वियाग्रा की कहानी और भी रोचक है. वियाग्रा का पहला उपयोग accidentally मशहूर pharmaceutical company pfizer के प्रयोगशाला में नपुंसकता को दूर करने में हुआ . बाद में 27 मार्च 1988 में AMERICA में FDA ने इसके इस्तेमाल की अनुमति दे दी . वियाग्रा को दरअसल ह्रदय सम्बन्धी DRUG के तौर पर blood pressure को कम वाली दवाई के लिए इस्तेमाल करने के लिए बनाया जा रहा था . trial के दौरान लोगों ने इसे लेने के बाद लिंग में तनाव यानि erection की बात कही जो सामान्य से ज्यादा स्थिर और लम्बे समय तक रहता था. FDA के द्वारा अनुमति के बाद अब तक तीस करोड़ से भी ज्यादा लोग इसका इस्तेमाल लिंग में आये तनाव में कमी के उपचार के लिए करते आ रहे हैं. बहुत सारे popolar फीमेल magazines और high profile newspapers में आये दिन पुरुषों के लिए उपयोग में आने वाली वियाग्रा का महिलाओं पर असर और महिलाओ के लिए वियाग्रा के manufacture से जुडी कई articles छपते रहते हैं. हालांकि Hypo active Sexual Desire Disorder (HSSD) यानि सेक्स में अरुचि, से ग्रसित महिलाओं पर किये गए प्रयोग में, ये बात सामने आई है, की पुरुषों के लिए बनी वियाग्रा, महिलाओं पर कुछ खास ऐसे पुरुष जिनको हाल में ही दिल का दौरा या heart attach हुआ हो , अगर आप को low blood pressure की सिकायत हो , आखों की शमस्य जो अनुवांशिक या खानदानी हो खून की कमी या anemia हो पेट का ulcer इत्यादि , की स्तिथि में वियाग्रा का सेवन नहीं करना चाहिए . --SHOCKING!! |Brutal truth of |Home remedy videos |exposed|देशी नुस्खों वाली विडियो की सच्चाई-https://www.youtube.com/watch?v=oHpWNHVrn68 --Secret of cancer cure, Cancer is business,कैंसर का रोकथाम,कैंसर कोई रोग नहीं,-https://www.youtube.com/watch?v=FmrZSeefI8E --लिंग को बड़ा करने के उपाय || इफ़ेक्ट साइड इफ़ेक्ट Complete Guide to ||Penis Enlargement and Effect-https://www.youtube.com/watch?v=sWqGBBmKK_4 __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use. Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab/
Просмотров: 2530 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
स्पर्म काउंट कम करते हैं ये खाध्य पद्धार्थ-Avoid these food to increase sperm count-hindi
 
02:47
स्पर्म काउंट कैसे बढ़ाएं तुरंत बाप बनने के घरेलू नुस्खे दोस्तों इस वीडियो में हम आपको बताएंगी आप इन खाद्य पदार्थों को खाने से आपकी स्पम काउंट में बढ़ोतरी हो सकती है साथ ही हम इस वीडियो में ही यह भी देखेंगे कि हमें कौन कौन से ऐसे खाद्य पदार्थ नहीं खाने चाहिए जिनसे हमारे स्पर्म के अकाउंट पर बुरा प्रभाव पड़ता है
Просмотров: 2458 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
बिना अल्ट्रासाउंड के जाने गर्भ में पल रहा शिशु लड़का है  या लड़की -Determine the sex of child in Womb
 
02:45
कैसे जाने की, गर्भ में पल रहा भूर्ण, लड़का है या लड़की . ऐसे बहुत सारे, शारीरिक और मानसिक लक्षण हैं, जो माँ को संकेत देते हैं ,के वह पुत्र को जन्म देने वाली है, या पुत्री को. बसे पहले अगर आप गर्भवती हैं तो बहुत बहुत बधाई . दोस्तों आप के गर्भ ठेहरने के बाद, सब से पहला सवाल जो आप से पुछा जाता है, वो ये होता है के, आप लड़का चाहते हो या लड़की . वैसे तो लड़का हो या लडकी, संतान प्राप्ति का सुख ही, अनोखा ,सुखमय और आनद से भरा होता है . हमारे देश में, गर्भ में पल रहे शिशु के लिंग की जांच के खिलाफ सख्त कानून है , साथ ही, भूर्ण की लिंग जांच कराना दंडनीय अपराध के श्रेणी में आता है . ऐसे में क्या कोई तरीका है जिससे के हम जान सके की गर्भ में पल रहा भूर्ण लड़का है या लड़की . कैसे जाने की, गर्भ में पल रहा भूर्ण, लड़का है या लड़की . ऐसे बहुत सारे, शारीरिक और मानसिक लक्षण हैं, जो माँ को संकेत देते हैं ,के वह पुत्र को जन्म देने वाली है, या पुत्री को. गर्भ में पुत्र संतान होने के लक्षण . नमकीन और खट्टा खाने की प्रवल इक्षा . अगर, गर्भावस्था के दौरान, माँ का दिल खूब खट्टा खाने का हो, और दिल बार बार खट्टा देख कर ललचे ,तो ये पुत्र प्राप्ति के संकेत हैं. वहीँ अगर अगर गर्भावस्था के दौरान आप का दिल मीठा खाने को लालायित रहे तो , ये पुत्री प्राप्ति के संकेत हैं. रूखे सूखे हाथ . अगर गर्भावस्था के दौरान , अगर माँ का हाथ रुखा सुखा सा रहे तो ये पुत्री प्राप्ति के संकेत हैं. वैसे तो अगर गर्भावस्था के दौरान, नीद का आना ,साधारण है परन्तु ,अगर , गर्भावस्था के दौरान ,आप को सुबह उठने में ,थकान और सुस्ती सी महसूस हो तो आप के गर्भ में पल रहा शिशु लड़की है . बाएं तरफ अधिक सोना पुत्री प्राप्ति को ओर इशारा करता है . होने वाली संतान ,गर्भावस्था के दौरान, माँ के personality और bahaviour को भी प्रभावित करता है, ऐसा माँ के शरीर में होने वाले Harmonal बदलाव के कारण होता है, अगर गर्भावस्था के दौरान माँ का स्वभाव चिड चिड़ा , गुस्सैल और साहस से भरा हो तो, जान लिजिएय के ,आप पुत्र धन को प्राप्त करने वाली हैं. अगर आप को ये विडियो पसाद आई तो subscribe करे और पायें ऐसे ही ढेर सारी जानकारियां .
Просмотров: 118145 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
पायरिया ||सासों की बदबू के घरेलु उपचार -Home remedies for pyorrhea and ||Bad breath-Hindi
 
10:10
पायरिया (pyorrhea) को periodontitis disease भी कहा जाता है। इसमें मसूड़े और हड्डियाँ जो दांतों को support देती हैं उनमें सूजन और इन्फेक्शन होने लगता है।और मुंह के बदबू का सबसे बड़ा कारण बनता है . यह बीमारी होने का सबसे मुख्य कारण होता है दांतों और मसूड़ों की ठीक से देखभाल न करना और मसूड़ों की सूजन को नजरंदाज करना जिसके कारण उनमें bacterial plaque फैल जाता है और दांतों में मैल जैसा दिखाई देने लगता है। Bacterial infection के कारण दांतों को सहारा देने वाली हड्डियाँ और connective tissue टूटने लगते हैं और दांत गिरने तक की नौबत आ जाती है। पायरिया के लक्षण हैं – 1. नमक (Salt) नमक में antiseptic और antibacterial properties होती हैं जो पायरिया को फैलाने वाले bacteria को ख़त्म करती हैं। यह सूजन और दर्द को भी कम करता है। एक गिलास गुनगुने पानी में दो चम्मच नमक घोल लें। अब अपने मुंह में जितना पानी भर सकें उतना भर लें और एक मिनट तक भरे रखें। अब पानी को थूक कर दूसरा पानी भर लें। इसे तीन चार बार करें। थोड़े से नमक में थोड़ा सा सरसों का तेल मिलकर पेस्ट बना लें। रोज मंजन करने के बाद इसे पेस्ट से अपने मसूड़ों को 5 मिनट के लिए ब्रश करें। इस उपचार को रोज सुबह करें। 2. तेल की मालिश मसूड़ों की तेल से मालिश करने से पायरिया दूर होता है और bacteria द्वारा फैलाया plaque खत्म होता है। इससे मसूड़े मजबूत होते हैं और मुंह स्वस्थ रहता है। मुंह में थोड़ा सा unrefined नारियल का तेल या सरसों का तेल डालकर 15-20 मिनट के लिए मसूड़ों की मालिश करें। अब इस तेल को बाहर थूंक कर गर्म पानी से कुल्ला करें। यह उपचार रोज सुबह ब्रश करने से पहले करें। Note – तेल को निगलें नहीं और न ही इसका कुल्ला करें। 3.हल्दी (Turmeric) हल्दी में curcumin होता है जिसके antibacterial और anti-inflammatory effects होते हैं। हल्दी मसूड़ों मौजूद bacteria को बहुत ही आसानी से खत्म कर देती है और मसूड़ों के दर्द और सूजन को भी कम करती है। यह मुंह की बदबू को भी कम करती है। रोज हल्दी से अपने दांतों और मसूड़ों को ब्रश करें। इसे रोज दिन में दो बार करें। आप हल्दी की vitamin E के साथ मिलकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 4. अमरूद (Guava) विटामिन सी से भरपूर होने के कारण अमरूद को भी पायरिया में फायदेमंद माना जाता है। जीवाणुरोधी होने के कारण यह मसूड़ों में इन्फेक्शन नहीं फैलने देता। मुंह की बदबू खत्म करने के साथ यह मसूड़ों और दांतों को स्वस्थ भी रखता है। अमरूद के पेड़ के कुछ पत्तों को तोड़कर धो लें। अब इन पत्तियों को 10-15 के लिए चबाकर थूंक दें। इसे नियमित करने से मसूड़ों से खून निकलना बंद हो जाता है और उनमें मवाद नहीं बनता। एक ताजा अमरूद को चार टुकड़ों में काट लें। अब इनपर नमक छिड़ककर धीरे-धीरे चबाकर खाएं। यह plaque को खत्म करके मसूड़ों को मजबूत बनाएगा। 5. नीम नीम में antibacterial properties मौजूद होती हैं जो harmful bacteria से लड़ती हैं। यह सांसो की बदबू को भी खत्म करती है। नीम की कुछ पत्तियों को पीसकर रस निकाल लें। अब इसे अपने मसूड़ों और दांतों की जड़ों में लगायें। पांच मिनट बाद गुनगुने पानी से इसे धो लें। इस उपाय को दिन में दो-तीन बार करें। नीम की दातून करने से भी मसूड़े स्वस्थ रहते हैं। 6. हाइड्रोजन पेरोक्साइड हाइड्रोजन पेरोक्साइड germs को मारता है और मसूड़ों की समस्यायों से लड़ता है। यह दांतों को सफेद करने के लिए भी फायदेमंद है। केवल 3 percent hydrogen peroxide solution का ही इस्तेमाल करें। हाइड्रोजन पेरोक्साइड और पानी को समान मात्रा में लेकर मिक्स कर लें। अब कुछ मिनट के लिए इससे अपने मसूड़ों को साफ करें और फिर पानी थूंक दें। एक चम्मच खाने के सोडा (baking soda) में थोड़ा सा हाइड्रोजन पेरोक्साइड डालकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट से अपने मसूड़ों को मंजन की तरह साफ करें। Note – यह recommend किया जाता है कि हाइड्रोजन पेरोक्साइड का इस्तेमाल केवल dentist की सलाह लेकर ही करें। 7. तुलसी मसूड़ों में खून बहने पर तुलसी काफी कारगर औषधि है। यह antibacterial होती है मसूड़ों में इन्फेक्शन नहीं होने देती। यह दांतों के दर्द को भी कम करती है। एक चम्मच सूखी तुलसी से बने पाउडर में थोड़ा सा सरसों का तेल डालकर पेस्ट बना लें। अब इससे अपने मसूड़ों और दांतों पर ब्रश करें। इसे दिन में दो बार करें। अपनी चाय में भी तुलसी डालकर सेवन करें। 8. लाल मिर्च लाल मिर्च में anti-inflammatory properties होती हैं जो पायरिया के कारण मसूड़ों में हुई सूजन को कम करती हैं। इसमें capsaicin होने के कारण यह दर्द को भी कम करती है। अपनी उंगली में थोड़ी सी लाल मिर्च लेकर मसूड़ों को मलें। इसके बाद गुनगुने पानी से कुल्ला करलें। यदि मिर्च के कारण मसूड़ों में अत्यधिक जलन होने लगे तो थोड़े से शहद का सेवन करलें। इसे नियमित करने से पायरिया धीरे-धीरे ठीक हो जाता है। 9. Tea Tree Oil Tea tree oil आसानी से बाजार में उपलब्ध होता है। इसमें natural antibacterial और antiseptic properties होती हैं जो microorganisms से लड़ती हैं। यह bleeding और gingival inflammation को भी कम करती हैं। tea tree oil के gel से मसूड़ों को ब्रश करें। आप अपने regular टूथपेस्ट में tea tree oil मिलाकर भी ब्रश कर सकते हैं। Note – Tea tree oil को निगलें नहीं।
Просмотров: 14011 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
R O प्यूरीफायर का पानी ज़हर है|TDS लेवल |फिल्टर पानी, |Health issue from |R O treatment
 
03:34
_ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 13073 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Benefits Of Having SEX|| रोजाना सम्भोग के फायदे जान कर आप हैरान रह जायेंगे |Hindi
 
03:59
सेक्स हर किसी के जीवन में अहमियत रखता है. सेक्स से जुडी कई विडियो आपने देखे होंगे. जिनमे सेक्स से जुडी कई अहम् जानकारियां दी गयी होगी. लेकिन शायद आपको पता नहीं होगा की सेक्स से कई तरह के फायदे भी होते है. जिनमे से कुछ के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है. 1. सप्ताह में दो या तीन बार सेक्स करनेवाले लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ जाती है. 2. एक सर्वे के अनुसार 60 प्रतिशत पुरुष चाहते हैं सेक्स के लिए औरत पहल करे. 3. एक अमेरिकन न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार 50 प्रतिशत लोग विवाह तक वर्जिन रहना चाहते हैं, जबकि 39 प्रतिशत लोगों का विचार था कि शादी के बंधन में बंधने से पहले सेक्स का जितना हो सके, उतना आनंद उठा लेना चाहिए. 4. सेक्स के दौरान हार्ट अटैक से मरने वाले पुरुषों में से 85 % पुरुष ऐसे होते हैं, जो अपनी पत्नी को धोखा दे रहे होते हैं. 5. जिन लोगों को नींद आने की शिकायत हो, उसके लिए सेक्स से बेहतर कुछ हो ही नहीं सकता, क्योंकि सेक्स के बाद अच्छभ नींद आती है. रिसर्च के अनुसार ये नींद वाली दूसरी दवाओं की तुलना में 10 गुना ज्यादा कारगर है. 6. औसतन इंसान अपनी पूरी ज़िंदगी में से लगभग दो ह़फ़्ते किस करने में बिताता है 7. हर पुरुष हर सात सेकंड में कम से कम एक बार सेक्स के बारे में ज़रूर सोचता है. 8. मोटापा घटाना चाहते हैं तो सबसे आसान और बेहतरीन उपाय है सेक्स का आनंद लें, क्योंकि सेक्स से तेजी से कैलोरी बर्न होती है. 9. 25 % महिलाएं सोचती हैं कि पुरुष पैसों से सेक्सी बनता है. 10. कुछ शेर दिन में 50 बार सेक्स करते हैं. ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 200 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Normal Delivery |Tips for Normal Delivery |नार्मल डिलीवरी के सटीक उपाय[Hindi]
 
04:39
गर्भावस्था एक खुशखबरी भरा लेकिन साथ हीं चुनौतियों भरा समय होता है. Operation से बच्चे के जन्म के बाद जहाँ माँ को बहुत ज्यादा देखभाल की जरूरत होती है, तो साथ हीं माँ को बहुत सारी बातों का ध्यान भी रखना पड़ता है. सिजेरियन डिलिवरी के बाद निर्देशों का पालन न करना माँ के लिए खतरा भी बन जाता है. जबकि नॉर्मल डिलीवरी से स्त्री का शरीर भी ठीक रहता है, और माँ को कम खतरों का सामना करना पड़ता है. और नॉर्मल डिलीवरी के बाद महिलाएँ जल्दी हीं Recover हो जाती है. साथ हीं अगली बार गर्भवती होने पर भी बहुत ज्यादा परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता है.नॉर्मल डिलीवरी के लिए कुछ फायदेमंद टिप्स : प्रसव पीड़ा सहने के लिए ताजे फल, आयरन, कैल्शियम, विटामिन तथा प्रोटीन युक्त भोजन करें. समय पर खाना खाएँ. ताजे फल, साग-सब्जियाँ एक गर्भवती महिला पर्याप्त मात्रा में पानी पिए यह भी बहुत जरूरी होता है, टहलना एक गर्भवती महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है. गर्भवती महिला को करने चाहिए. याद रखिए अपने मन से व्यायाम करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है. जिससे आपके नॉर्मल डिलीवरी की सम्भावनाएँ बढ़ जाती है. और इस बात को बिलकुल न भूलें कि शरीरिक रूप से सक्रिय रहे बिना नॉर्मल डिलीवरी बिल्कुल भी सम्भव नहीं है. गर्भ ठहरने की बात पक्की होने के बाद से हीं किसी अच्छी महिला डॉक्टर के सम्पर्क में रहें. तथा उन चीजों का पालन करें जो एक गर्भवती महिला को करनी चाहिए. नॉर्मल डिलीवरी एक माँ की स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है. और एक बात बिल्कुल न भूलें कि आप एक बच्चे को जन्म देने जा रही हैं, तो इसके लिए आपको शरीरिक और मानसिक रूप से बिल्कुल मजबूत रहना होगा. अगर आप गर्भ ठहरने के तुरंत बाद से खुद को पूरी तरह से आराम की आदि बना देंगीं, तो नॉर्मल डिलीवरी की सम्भावना काफी हद तक कम हो जाएगी. अपने अनुभव हमारे साथ जरुर बाँटें. _ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 1330 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
i Pill के फायदे और नुकसान -Side effect of i Pill ||emergency contraceptive pill[Hind]i
 
04:02
Emergency Contraceptive Pills also called as morning-after pill or ECs or Post Coital Pills, they are the tablets taken after unprotected intercourse, we have explained all facts related to ECs, when to take, what is the dose that need to be taken? When to avoid emergency contraceptive pills. We have also told by which trade names of emergency contraceptive pills are available in India.
Просмотров: 1863 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
AIDS, HIV Myts and Facts ||HIV एड्स के जुडी कुछ झूठी बातें |Hindi
 
02:45
इस विडियो में हम बता रहे हैं एड्स से जुडे कुछ ऐएय झूठ जिन्हें हम सच मानते हैं , ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 86 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Wash Your Penis With Toothpaste||  लिंग पर Colgate का असर|| Hindi
 
03:43
toothpaste का इस्तेमाल तो हम बचपन से ही करते आ रहे हैं, रोजाना ब्रश करेने के फायदे और नुकसान को भी हम अच्छी तरह से समझते हैं , स्वस्थ मसूड़े और मोतियों जैसे दांत पाने के लिए , मसूड़ों और दतोंकी साड़ों से लड़ने के लिए , क्या आप के लिंग में प्रयाप्त उत्थान नहीं आता, क्या आप अपने पार्टनर को संतूस्ट होने से पहले ही discharge हो जाते हैं, क्या आप भी चाहते हैं के अपने पार्टनर को बिस्तर पर परेशान कर दें , दोस्तों , अगर इन में से किसी भी प्रश्न का जवाब हां में है तो आज हम आप को बता दें की आप घर पे इस्तेमाल होने वाले टूथपेस्ट का इस्तेमाल इन सारे प्रश्नों का जवाब है . आप को य जान कर हैरानी होगी, आप सहवास से १० मिनट पहले , अगर अपने लिंग को धोने के लिए साबुन की जगह मिंट युक्त टूथ पेस्ट का इस्तेमाल करें तो आप के लिंग में न केवल प्रयाप्त उत्थान आएगा बल्कि आप के सहवास की अवधि भी काफी बढ़ जायेगी , साथ ही अगर आप के पार्टनर को मुख मैथुन करते वक़्त बदबू आती है तो , इसकी शम्स्या भी जाती रहेगी और आप खुल कर यौन संबंद का मज़ा ले सकेंगे . जी हाँ दोस्तों , अमेरिका के मशहूर पत्रिका Health में प्रकाशित लेख में इस बात की पुष्टि की गई है की अगर आप सेक्स करने के महज़ १० से १५ मिनट पहले अपने लिंग को टूथपेस्ट से अच्छी तरह मालिस करते हुए धोते हैं तो ये आप के लिंग की नसों को मजबूत बनाता है जिससे लिंग में खून का बहाव तेज़ हो जाता है , जो उसे उत्तान प्राप्त करने में मदद करता है और आप के stemina को boost करता है जिससे आप ज्यादा देर तक बिना स्खालित हुए सभोग का आनद ले सकते हैं हैं इतना ही नहीं ये आप को चरमुत्कर्ष की अलग दुनिया में ले जाता है , साथ ही जिन भाइयों को लिंग में प्रयाप्त उथान नहीं होता जिसे erectile dysfunction भी कहते हैं ,उनके लिए ये नुस्खा किसी रामवाण से कम नहीं , और आप को जान कर ख़ुशी होगी की इसके इस्तेमाल से कोई नुकसान भी नहीं है , बस ध्यान रखने योग्य बात ये है की आप किसी औसधिय युक्त टूथपेस्ट का इस्तेमाल न करके , किसी साधारण टूथपेस्ट का ही इस्तेमाल करें- ►Follow us on Twitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 1707 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Weight loss ||Home remedies मोटापा कम करे घरेलु नुस्खे से[Hindi]
 
05:33
चिंता न करें , आज आप जानेगें मोटापा घटाने के कुछ ऐसे उपाय जिस में अधिक व्यायाम की ज़रूरत नहीं है. इन मोटापा घटाने के घरेलू उपाय के द्वारा आप फिर से स्वस्थ और संतुलित शरीर पाएँगे. अगर आप को ये विडियो पसंद आये तो सब्सक्राइब और लाइक बटन को जरूर दवाएं . This video will explain you about weight loose and home remedies including exercises for losing fat. पेट कम करने के उपाय : गरम पानी में नींबू और अदरक का रस हो तो और भी बेहतर है. stevia powder का उपयोग करे जो कुद्रती शक़ऱ पदार्थ है जिस में calories बिल्कुल नहीं होते है. पेट कम करने के लिए योगासन बहुत ही फायदेमंद है. सवेरे उठ के 20 मिनिट तक आप कोई एक या दो योगासन, जो आप के लिए अनुकूल है और आसान है वो ही करे. योगा में वक्रासना, भुजंगासन, त्रिकोनसन, पाशचिमोत्तासन, गरुर्ढआसन, उत्कतसना, अर्धचंदारसना और शलभासना जैसे आसान वजन नियंत्रण करने में और मोटापा कम करने में मदद रूप है, आप ग्वार पत्ती का रस सवेरे पीने की आदत डाले पेट कम करने के तरीके में मादुमालाती के जड़ को पीस के शहद में मिला के सेवन करे. चर्बी पिघलने के लिए आयुर्वेदिक उपाय आयुर्वेदिक जड़ी बूटी में आप कालोंजी, गुग्गूल, गिलोय, यष्टिमधु, अजवाइन, सवा के बीज, जीरा के बीज, पुदीना, वृक्षमला और कढ़ी पत्ते का उपयोग कर सकते. सभी जड़ी बूटी ,या तो 4-5 को पीस के मिला दे ,और दिन में दो बार प्रयोग करे. त्रिफला चूरन , #doctor sahab,
Просмотров: 267 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
JhunJhunahat|| Why does my feet sleep|| पैरों में झुन झुनाहट क्यूँ होती है |Hindi
 
02:56
Piarin me jhunjhuni lagan ya hath pair me jhunjhuni hona jisye english me tingling feet ya feet sleeping kehtey hai , ek aam baat hai . Aaj hum is video me baat krne wale hain hat aur paron me jhunjhuni lagna ya jhunjhunahat ke ilaz aur upay ke bare me. Sleeping feet aap ke shareer ke kuch angon jaise hath pair me khaskar ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use. #DoctorSahab #डॉक्टरसाहब
Просмотров: 187 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
योनि को टाइट करने का घरेलू नुस्खा |virgin  again |tight your vag naturally[hindi]
 
04:47
अधिक`सहवास करने, सम्भोग करते समय गलत तरीके इस्तेमाल करने, अति प्रसव करने और शरीर के कमजोर एवं शिथिल होने के कारण स्त्रियों का योनि मार्ग ढीला हो जाता है, जिससे सहवास करते समय सुख एवं आनन्द की अनुभूति नहीं होती। This video is focused on the natural vaginal treatment or natural vagina tightening remedies by using these remedied you can develop a great tight vagina or pussy and you will fell virgin again as you were in your teenage, the complete vaginal tightning remedy. भांग को सुखाकर कूट-पीसकर महीन चूर्ण कर लें। रात को सोते समय इस पोटली को पानी में डुबोकर गीली कर लें एवं योनि मार्ग में अन्दर तक सरकाकर रख लें और सुबह निकालकर फेंक दें। लाभ न होने तक यह प्रयोग जारी रखें। फिटकरी और माजूफल का गूदा योनि को टाइट करने में लाभदायक है 3 हिस्सा फिटकरी और १ हिस्सा माजूफल का गूदा एक साथ पीसकर एक मुलायम कपडे में बांध ले और उसे योनि में रात भर रखने से योनि काफी हद तक टाइट हो जाती पान के पत्ते भी योनि को टाइट पानी में भिगोकर योनि में १५ मिनट तक रखे ऐसा लगातार ७ दिनों तक करने से योनि टाइट हो जाती है. आंवले के पेड़ की चाल भी योनि को टाइट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है 50 ग्राम माजूफल को 1 लीटर पानी में तब तक उबालें जब तक पानी आधा न रह जाये अब इस पानी में कॉटन को अच्छे से भिगोकर उसको 20 मिनट तक योनि में रखे ऐसा लगातार ७ दिनों तक करने से योनि काफी हद तक टाइट हो जाती है एलोवेरा जेल को ३० मिनट तक योनि में लगाने से भी योनि टाइट हो जाती है योनी को जल्दी और एक दिन में टाइट करने के लिए, आप योनी को फिटकिरी से धो सकती हैं , एक चम्मच फिटकिरी पाउडर ले कर , उसमे उतनी ही मात्र में पानी मिला ले और एक घो बना लें. अब इस घो को योनी के उपरी त्वचा पैर लगा कर ३० मिनट तक सूखने दे फिर धो ले . आप योनी में ,कसावट महसूस करने लगेंगी, ये योनी को टाइट करने का अस्थाई समाधान है . #डॉक्टर साहब Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 2800 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Normal Size of Penis |Penis enlargement myth| लिंग की लम्बाई कितनी होनी चाहिए ?-Doctor Sahab
 
05:09
आप के लिंग की लम्बाई कितनी है ? क्या आप का साइज़ सही है ? क्या आप अपने लिंग की लम्बाई से खुश हैं , आखिर कितनी होनी चाहिए मर्द के लिंग की औसत लम्बी ? आज हम जानेंगे ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब आपके अपने डॉक्टर साहब के साथ. दोस्तों मर्दों में अपने जननांग के लम्बाई को लेकर अक्सर एक सवाल आता रहता है , क्या मेरा लिंग छोटा है This video will discuss about the average penile size and,does size really matters, what shoud be the minimum size to get satisfaction. हो न हो कही न कहीं आप के मन में भी कभी न कभी ये सवाल जरूर आया होगा . तो आइये हम इस विषय पर एक विस्तृत चर्चा करते हैं. लिंग की औसत लम्बाई कितनी होनी चाहिए ? क्या लिंग को लंबा और बड़ा करना संभव है : https://www.youtube.com/watch?v=sWqGBBmKK_4 british journal of urology International के द्वारा किये गए एक सर्वे के अनुसार , सुप्तावस्था यानि flaccid position में लिंग की औसत लम्बाई 3.61 inches होती है , जबकि errected pen*s की औसत लम्बाई 5.1 inches होती है. वहीँ अगर इसके आकर या मोटाई की बात करें तो flaccid position में लिंग का औसत आकर या girth 3.66 inches और उत्तेजित अवस्था में इसकी गोलाई 4.59 cm होती है. इस सर्वे में कुछ चौकाने वाले परिणाम देखने को मिले . पूर्ण उत्थान अवस्था में या fully errect position में केवल ५ % मदों के लिंग की लम्बाई ही 6.3 inches पाई गई . इसका मत्ल्बा के १०० में से केवल ५ मर्द ऐसे ठे जिनके लिंग की लम्बाई पूर्ण उत्थान अवस्था में या fully errect position में 6 inch से ज्यदा थीं. . - Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 2575 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Health benefits of Drinking Beer|| बीयर पीने के स्वास्थ्य फायदे -जाने कब और कैसे पीना चाहिए |Hindi
 
05:41
बीयर का सेवन करने से कई बीमारियां जड़ से भी खत्म हो जाती है। आज हम आपको बीयर पीने के कुछ ऐसे ही फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं, जोकि शायद ही किसी को पता हो।साथ ही हम बात करने वाले हैं बीयर के बनने और बीयर को कब पीना चाहिए । बीयर पीने का सही समय क्या होता है और बीयर को कैसे पीना चाइए इत्यादि । 1 . गुर्दे की पथरी अगर आपके गुर्दे में पथरी है तो हफ्ते में 1 बार बीयर पीएं। इससे आपके गुर्दे में मौजूद बड़ी से बड़ी पथरी भी पिघल कर यूरिन के रास्ते बाहर निकल जाएगी। 2. ब्लड सर्कुलेशन हफ्ते में 2 बार डार्क बीयर का सेवन शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक रखता है, जिससे आप कई बीमारियों से बचे रहते हैं। इसके अलावा बीयर का सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। 3. मजबूत हड्डियां बीयर में सिलिकॉन नामक तत्व होता है, जिससे आपकी हड्डियां मजबूत होती। इसलिए आप हफ्ते में 2 बार बीयर का सेवन जरूर करें। 4. दिल के रोग सही मात्रा में बीयर का सेवन करने से दिल से जुड़ी समस्याएं खत्म हो जाती है। संंतुलित मात्रा में बीयर का सेवन करने वालों को हार्ट अटैक, स्ट्रोक्स या हृदय रोग का खतरा 31% तक कम रहता है। 5. अल्जाइमर ज्यादा काम करने के कारण आजकल लोगों के दिमाग पर बहुत प्रैशर पड़ता है, जिसके कारण उन्हें अल्जाइमर की बीमारी हो जाती है। ऐसे में हफ्ते में सिर्फ एक बार बीयर का सेवन करें। इसे पीने से अल्जाइमर और दिमाग से जुड़ा हर रोग जड़ से खत्म हो जाएगा।►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use. #DoctorSahab #डॉक्टरसाहब
Просмотров: 53 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
जाने शरीर मे कौन से विटामिन की कमी हो रही है और विटामिन की कमी को कैसे दूर करें |Hindi
 
04:15
शरीर में विटामिन की कमी के ये है संकेत रात को दिखाई देने में कठनाई रोडोप्सिन आंखों रेटिना में पाया जाने वाला एक पिग्मेंट होता है जो आपको रात में देखने में मदद करता है। इसके लिए आपको अपनी डाइट में विटामिन ए को शामिल करना चाहिए। इसमें आप अनार, स्ट्रॉबेरी, गाजर, टमाटर और चुकंदर का सेवन कर सकते हैं। केराटोसिस पिलरिस यह बम्प्स ज्यादातर गाल, बाहें, जांघ या नितंब पर होता है। त्वचा की समस्या से ज्यादातर बच्चे शिकार होते हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए आपको अपने डाइट में विटामिन ए और विटामिन सी से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए। मुंह के अल्सर विटामिन बी1, विटामिन बी2, और विटामिन बी6 और आयरन की कमी के कारण होता है। भंगुर नाखून विटामिन डी और विटामिन बी7 की कमी के कारण होता हैं। यह विटामिन बी7 जिसे बायोटिन भी कहते हैं की कमी के कारण होता है। यह विटामिन फूड को ऊर्जा में परिवर्तित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ►विटामिन क्या होता है, विटामिन कैसे काम करता है,विटामिन के प्रकार-https://youtu.be/LgmEImXw58c ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use. #DoctorSahab #डॉक्टरसाहब
Просмотров: 90 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Eat Garlic Every Day ,लहसून खाने के फायदे |Arthritis,LDL,Metabolism and Antibodes with Garlic
 
03:23
लहसुन का इस्तेमाल तो लगभग सभी घरो में सब्जी बनाते समय किया जाता है. इसके इस्तेमाल से हमारे खाने का स्वाद दोगुना हो जाता है, पर क्या आपको पता है की छोटा सा दिखने वाला लहसुन हमारी सेहत को कितने बड़े बड़े फायदे पहुंचा सकता है. इसके सेवन से हमारे शरीर को भरपूर मात्रा में पोषक तत्वों की प्राप्ति होती है.अगर आप नियमित रूप से रात को सोने से पहले एक भुने हुए लहसुन का सेवन करते है तो इससे अपने शरीर को बहुत सारी बीमारियों से बचा सकते है. ►Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab ►Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab ►Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 89 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
वैक्सिंग करने के कुछ टिप्स Waxing ||tips for women[Hindi]
 
03:55
बॉडी के अनचाहे बालों से छुटकारा पाना काफी मु्श्किल होने के साथ कभी-कभी दर्दभरा भी होता है. और हां, चाहें रेज़र हो, शेविंग क्रीम या वैक्सिंग कराना हो, इनके लिए जेब भी ढीली करनी पड़ती है. लेकिन अब खुद को स्टाइलिश और स्मार्ट लुक देने के लिए ये हमारी ज़रूरत बन चुकी है. लेकिन चाहें वैक्सिंग हो, शेविंग या थ्रेडिंग, हर हेयर रिमूवल के कुछ कॉमन हैक्स हैं. इन हैक्स की मदद से ना सिर्फ आपको परफेक्ट और बेहतरीन रिज़ल्ट मिलता है, बल्कि इससे आप इनसे होने वाले दर्द या किसी तरह के रैशेज़ से भी बचती हैं. इतना ही नहीं ये हैक्स कई मामलों में आपके पैसे भी बचाने में मदद करते हैं. आप भी जानें इन ट्रिक्स के बारे में और अगली चाहें वैक्सिंग हो या थ्रेडिंग, हर हेयर रिमूवल को बनाएं आसान और मज़ेदार. शेविंग क्रीम की जगह ऑयल करें इस्तेमाल नियमित रूप से शेविंग करने से आपकी स्किन ड्राय हो जाती है. इसलिए अगर आप भी हाथ और पैर के अनचाहे बालों को हटाने के लिए शेविंग करती हैं, तो शेविंग क्रीम की जगह नारियल या बादम तेल का इस्तेमाल करें. इससे ना सिर्फ आपको स्मूद शेव मिलेगी, बल्कि स्किन भी मॉइश्चराइज़्ड रहेगी. ट्रिमिंग बनाएगा काम आसान कई बार लंबे समय तक शेविंग या वैक्सिंग ना करने से बाल काफी लंबे हो जाती हैं. इन्हें शेव या वैक्स करने में काफी मुश्किले आती हैं. इसलिए कभी भी शेविंग या वैक्सिंग से पहले साफ कैंची से हेयर थोड़ा (करीब 1/4 इंच तक) ट्रिम कर लें. ट्विज़र का इस्तेमाल करते समय अपनाएं ये ट्रिक क्या आप भी आईब्रोज़ या अपर लिप्स के एक्सट्रा हेयर हटाने के लिए ट्विज़र का इस्तेमाल करती हैं? तो इसके दर्द से बचने के लिए गुनगुने पानी की मदद लें. जब कभी आप ट्विज़र से आईब्रोज़ या अपर लिप्स के बाल निकालें तब पहले गुनगुने पानी से इस हिस्से को थोड़ा गीला कर लें. इससे स्किन के पोर्स खुल जाएंगे और बिना दर्द के आसानी से बाल निकल आएंगे. वैक्सिंग के पहले स्क्रब की लें मदद स्किन में मौजूद डेड सेल्स वैक्सिंग के लिए एक रूकावट बनते हैं और ये वैक्सिंग के दर्द को और बढ़ाते हैं. इसलिए कभी भी वैक्सिंग करने या कराने से पहले अपनी स्किन को किसी अच्छे बॉडी स्क्रब से पैर या हाथ जिसकी भी वैक्सिंग करनी उसे एक्सफोलिएट करें. इससे स्किन में मौजूद डेड स्किन हट जाएंगे. इसके साथ ही इससे आपको किसी तरह के रैशेज़ से भी आराम मिलेगा. रेज़र ब्लेड को लंबे समय तक इस्तेमाल के लिए अगर आप चाहती हैं कि शेविंग के लिए इस्तेमाल होने वाले रेज़र के ब्लेड्स लंबे समय तक उसी तरह काम करें, तो आपको ज़रूरत है एक आसान ट्रिक अपनाने की. शेविंग के बाद अपने रेज़र को अच्छी तरह साफ करने के बाद इसे सूखा लें. जब ये सूख जाए तो एक टिश्यू को किसी भी ऑयल में डुबोकर रेज़र के ब्लेड्स को अच्छी तरह पोंछें. ध्यान रखें कि आपकी उंगुलियां ना काटें. इससे आपके ब्लेड्स की लाइफ लंबी हो जाएगी और आपके पैसे बचेंगे. स्किन में मौजूद स्किन टैग (मस्से) ढककर रखें अगर आप शेविंग, थ्रेडिंग या वैक्सिंग कर रही हो, तो अपनी बॉडी में मौजूद मस्से को बैंडेड या किसी चीज़ से कवर कर लें. कई बार ये नज़र नहीं आते हैं और वैक्स या शेव करते समय ये कट जाते हैं जिससे काफी दर्द होता है. इससे बचने के लिए इन्हें शेविंग या वैक्सिंग से पहले ढक लें.
Просмотров: 896 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
Top 5 Banned common Products Still Used in India -विदेशों में बैन पर भारत में नहीं
 
03:41
क्या आप को पता है , कुछ जानी मानी प्रोडक्ट्स जो आप रोजाना इस्तेमाल में लाते हैं उनमे से कुछ प्रोडक्ट्स तो बिदेशों में बैन हैं . बैन किसी और कारण से नहीं बल्कि मानव स्वस्थ्य और सुरक्षा के दृष्टी से. तो आइये आज हम आप को कुछ ऐसे ही प्रोडक्ट्स के बारे में बताते हैं जो वीदेशों में तो बैन है परन्तु हमारे देश में धड़ल्ले से बेची जाती हैं Best selling car maruti suzuki alto 800 and huyndia cars are banned outside india. ‘The Hindu’ में साल 2010 में छपी एक खबर के मुताबिक देश में बिकने वाले ब्रैंडेड शहद दूषित होता है। जब सेंटर फॉर साइंस ऐंड इन्वाइरनमेंट ने भारत में बिकने वाले 12 ब्रैंड्स के शहद के नमूनों की जांच की तो इनमें से 11 ब्रैंड्स में 6 हानिकारक एंटीबायॉटिक्स पाए गए। इन 12 ब्रैड्स में डाबर, हिमालया, पतंजलि, बैद्यनाथ, खादी और 2 बाहर के ब्रैंड्स शामिल थे। भारतीय कंपनियां शहद का निर्यात करते समय इस बात का ध्यान रखती हैं कि शहद में एंटीबायॉटिक्स न मिले हों, या सीमित मात्रा में मिले हों, क्योंकि बाहरी देशों में शहद में एंटीबायॉटिक्स का प्रयोग या तो बैन है, या फिर सीमित मात्रा में होता है, लेकिन यही कंपनियां अपने देश में ऐसा कोई बैन न होने के चलते अपने ही लोगों की सेहत से खिलवाड़ कर रही हैं। डिस्प्रिन, नोवाल्जिन, डी-कोल्ड, विक्स ऐक्शन-500, एंट्रोक्विनॉल, फ्यूरॉक्सॉन ऐंड लोमोफेन, निमुलिड और ऐनल्जिन जैसी दवाओं कि लंबी लिस्ट है जो बाहरी देशों में बैन हैं, लेकिन भारत में धड़ल्ले से बिक रही हैं। अगर आप किंडर जॉय या किंडर सरप्राइज एग अमेरिका ले जाने की कोशिश करेंगे तो आप पर एक अवैध किंडर एग के लिए 2,500 डॉलर का फाइन लग जाएगा। इस चॉकलेट एग में सरप्राइज टॉय छिपा होने के कारण इसे अमेरिका में बैन कर दिया या है। उनका मानना है कि कैंडी के अंदर टॉय छिपा होने के कारण बच्चों का गला चोक होने का खतरा रहता है, लेकिन हमारे यहां के बच्चों को तो खतरों से खेलने की आदत है। है न!
Просмотров: 1158 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
होली के रंग निकलने के ||घरेलु उपाय-Wash ||holi color from body [Hindi]
 
05:45
भारत में होली का त्योहार बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है इस दिन पर हर लड़के लड़की बूढ़े से लेकर बच्चों तक सभी होली खेलते हैं . होली के दिन पर पुराने जमाने में नेचुरल colour का इस्तेमाल किया जाता था . मगर अब के समय पर सभी केमिकल कलर से बनाए हुए कलर का इस्तेमाल करते हैं, इस केमिकल से भरे कलर से आपके आंखों पर, चेहरे पर, और शरीर पर किसी भी अंग पर थोड़ा प्रभाव तो पड़ता ही है, लेकिन इस बात का पता हो कर भी लोग होली का ढेर सारा मजा लेते हैं क्योंकि बुरा ना मानो होली है आपने सुना ही होगा, तो दोस्तों फिर भी अगर आप होली खेलने में कलर की वजह से डर रहे हैं तो आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है, आज हम आपको होली का रंग निकालने के और रंग से बचने के घरेलू उपाय बताएंगे ,इस घरेलू नुस्खे के इस्तेमाल से आप होली का रंग आराम से उतार सकते हैं. होली के रंग से बचने के उपाय हाथ-पैर खासकर चेहरे पर बालों और शरीर के अंगों पर होली खेलने के 20 मिनट पहले नारियल तेल या फिर सरसों के तेल का लोशन की तरह लेप लगा लें होली खेलने के वक्त कोशिश यह करें कि फुल शर्ट और फूल पैंट पहने रंग खेलने के बाद तुरंत पानी से अंग धोना चाहिए आंखों में रंग या फिर गुलाल जाने के तुरंत बाद आंखों को स्वच्छ पानी से धोना है चेहरा साफ कैसे करें होली के रंग निकालने के तरीके आंखों को पानी से धोने के बाद गुलाब जल से साफ करने से आंख अच्छी होती है तथा रंगो के वजह से जलन होती है भी वह चली जाती है. रंग खेलने के बाद नहाने से पहले मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल करना सबसे बढ़िया होता है मुल्तानी मिट्टी को लगाकर सूखने दें और इसके बाद साफ करने से कलर जल्दी निकल जाता है. आप कलर निकालने के लिए बेसन मीठा तेल और मलाई को पानी में मिलाकर पेस्ट बनाकर सरीर पर मलकर सूखने के बाद धो कर साफ करें सिर के बालों का रंग निकालने के लिए बेसन या दही आंवले जो की एक रात भर भींगा हुआ हो से आप सर के बालों को धो सकते हैं इसके बाद बालों में शैंपू का इस्तेमाल करके साफ कर लें अगर आपके शरीर पर किसी ने रासायनिक या केमिकल रंग लगा दिया है और वह निकल नहीं रहा, तो एक गिले तौलिए में थोड़ा सा केरोसिन भिगोकर रंग लगे हुए हिस्से पर हल्के हाथ से मल लें इसके इस्तेमाल से रंग तुरंत निकल जाता है. चेहरे की त्वचा को मुलायम करने के लिए दूध के साथ कच्चा पपीता, मुल्तानी मिट्टी, और बादाम तेल को चेहरे पर लगाएं फिर थोड़ी देर में चेहरा धो लें जिससे स्किन मुलायम हो जाती है. चेहरे के रंग को साफ कैसे करें बेसन के आटे में मलाई मिलाएं और अपने चेहरे पर लगाएं ,आप चाहें तो इसमें दही और चुटकी भर हल्दी भी मिला सकते हैं, इसका लेप लगाने से चेहरे का रंग निकल जाता है साथ ही चेहरे पर चमक भी आती है. - आंखों में रंग या गुलाल गिरने पर आंखें तुरंत ठंडे पानी से धोएं ध्यान रखें कि आंखों को ज्यादा मसले नहीं। इससे जलन होने लगेगी। गुलाबजल डालें। आराम मिलेगा। - नहाने के लिए मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग कर सकते हैं। त्वचा पर भिगोई हुई मुल्तानी मिट्टी लगाएं और थोड़ी देर सूखने दें। फिर उसे धो लें। इससे रंग छुड़ाने में काफी मदद मिलेगी। - बेसन, मीठा तेल और मलाई को पानी में मिलाकार पेस्ट बना लें। इसे शरीर पर लगा लें और सुखने के बाद धो लें। - बेसन या आटे में नींबू का रस डालकर रंग छुड़ा सकते हैं। - सबसे पहले कपड़ों और सिर से जितना सूखा रंग झाड़ सकते हैं, निकाल दें। उसके बाद सूखे, मुलायम कपड़े से रंग साफ कर लें। रंग को आहिस्ता से छुड़ाएं ज्यादा जोर से रगडऩे पर त्वचा में जलन होने लगती है और अधिक रगड़ से त्वचा छिल भी जाती है। - नींबू का रस और दही मिलाकर पेस्ट बनाएं और इसे लगाएं, फिर नहा लें। इससे भी रंग उतर सकता है। - नारियल के तेल या दही से त्वचा को धीरे-धीरे साफ कर सकते हैं। - सिर से कलर निकालने के लिए बेसन या दही-आंवले (एक रात पहले भिगोकर रखे आंवले) से भी सिर धो सकते हैं। इसके बाद बालों में शेंपू करें। - नहाने के बाद त्वचा रुखी हो जाती है ऐसे में चेहरे पर मॉइश्चराइजर और हाथ-पैरों में बॉडी लोशन लगाएं या सबसे अच्छा है घरेलू उबटन का भी उपयोग करें। - साथ ही होली खेलने के बाद आप फैशियल, मैनिक्योर और पैडीक्योर आदि भी करा सकते हैं। - खीरे का रस, गुलाब जल और एक चम्मच सिरका पाउडर का पेस्ट बना लें और इससे मुंह धोएं। इससे रंग तो साफ होगा ही त्वचा भी खिल उठेगी। -मूली का रस, दूध व बेसन या मैदे कापेस्ट बना लें और उसे चेहरे पर लगाएं। इससे भी रंग साफ हो सकता है।
Просмотров: 35740 Doctor Sahab ke Gharelu Upay
बीमारी में  मूंग दाल क्यूँ खाते हैं |Cure LDL,Weakness and sweating with -Moong Daal|Doctor Sahab
 
03:53
मूंग की दाल की खास बात है कि ये ईजी टू डाइजेस्ट होती है।इसके अलावा मूंग की दाल में कार्बोहाइड्रेट, कई तरह के विटामिन्स, फॉस्फोरस और खनिज तत्व पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों से दूर रखते हैं। मूंग दाल स्किन और बालों के लिए भी बहुत अच्छी है। मूंग की दाल की खास बातें रक्तचाप को रखे काबू वजन घटाए कमजोरी दूर करे पसीना भगाए बिमारीयों में मूंग दाल क्यूँ खाते हैं - Follow us on TWitter :https://twitter.com/Docotorsahab Like us on Facebook: https://www.facebook.com/ApneDoctorSahab Read this article:https://apnedoctorsahab.blogspot.in Subscribe :https://goo.gl/YBTzQm __ Disclaimer- Some contents are used for educational purpose under fair use. Copyright Disclaimer Under Section 107 of the Copyright Act 1976, allowance is made for "fair use" for purposes such as criticism, comment, news reporting, teaching, scholarship, and research. Fair use is a use permitted by copyright statute that might otherwise be infringing. Non-profit, educational or personal use tips the balance in favor of fair use.
Просмотров: 66 Doctor Sahab ke Gharelu Upay